छत्तीसगढ़

चोरी की ब्रांडेड टीशर्ट और जींस पहनना चोर का पड़ गया भारी, पुलिस ने संदेह पर पकड़ा तो हुआ लाखों की चोरी का खुलासा

भिलाई

दुर्ग से लगे बोरसी क्षेत्र के एक सूने मकान में आधी रात को चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले दो शातिर आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने चोरी की रकम और सोने चांदी की ज्वेलरी को घर के आंगन में गड्ढा खोदकर प्लास्टिक के डिब्बे में छुपा दिया था। पुलिस ने शातिर चोर के कब्जे से 103 ग्राम सोना कीमती 5 लाख 10 हजार, 35 हजार की 32 इंच टीवी समेत करीब 5 लाख 45 हजार रुपए जब्त किया है। सीएसपी कार्यालय में आयोजित पत्रवार्ता में शहर एएसपी संजय ध्रुव ने मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि सीएसपी विवेक शुक्ला के मार्गदर्शन में टीआई राजेश बागड़े व चौकी प्रभारी दिनेश कुमार लहरे बोरसी पंचशील सेक्टर-8 निवासी प्रशांत कुमार चंद्राकर के घर में हुई चोरी की घटनाओं को लेकर आरोपियों की तलाश कर रहे थे। सूचना पर बोरसी भाठा रेल्वे लाईन के पास का रहने वाले आशीष गंधर्व उर्फ भैसा और ओमप्रकाश गंधर्व को हिरासत में लिया। पूछताछ की गई तो चोरी करना स्वीकार कर लिया। एएसपी ने बताया कि आशीष गंधर्व शातिर चोर है। बचपन में चोरी के मामले में जेल जा चुका है। 13 अगस्त को चौकी प्रभारी दिनेश लहने, प्रधान आरक्षक नरेन्द्र सिंह और आरक्षक किशोर सोनी पेट्रोलिंग से घूम रहे थे। नरेन्द्र सिंह ने देखा कि भैसा साइकिल को लडखड़ाते हुए चला रहा था। ब्रांडेड टी शर्ट, जैकेट और जींस पहना था। उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। टी शर्ट, जैकेट और जींस कहां से खरीदा वह जबाव नहीं दे रहा था। फिर उसे घटना स्थल पर मिला उसके शर्ट को दिखाया। कहा कि यह शर्ट किसका है। भैसा ने अपना बताया। तब पुलिस ने उसे दबोच लिया। पूछताछ में ओम प्रकाश गंधर्व का नाम बताया। उसे भी गिरफ्तार कर लिया।

Related Articles