जांजगीर चांपा

तम्बाकू के उपयोग को हतोत्साहित करने जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करें – कलेक्टर

जांजगीर-चांपा

कलेक्टर श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला की अध्यक्षता में राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम अंतर्गत जिला स्तरीय अन्तर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। कलेक्टर ने कहा कि तम्बाकू का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इसके लिए जन जागरूकता के कार्यक्रम नियमित रूप से आयोजित करते रहें। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम अंतर्गत गठित जिला स्तरीय अंतरविभागीय समिति के सदस्य भी अपने-अपने कार्य क्षेत्र में तम्बाकू मुक्त जिला बनाने में अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें।
कलेक्टर ने कहा कि स्कूलों के सभी कक्षाओं में तम्बाकू से होने वाले दुष्प्रभाव की जानकारी के लिए नियमित रूप से सत्र आयोजित करें। उन्होंने उपस्थित सभी नगरीय निकाय के सीएमओ और जनपद सीईओ से कहा कि वे कोटपा एक्ट -2003, के नियमों का कड़ाई से पालन करवाना सुनिश्चित कराएं। इसके तहत सार्वजनिक स्थानों पर धुम्रपान निषेध का चिन्ह वाला बोर्ड दृष्टब्य स्थान पर लगवाया जाय। जिसके नीचे संस्थान के प्रमुख का नाम फोन नंबर आदि स्पष्ट अंकित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर सिगरेट लाईटर आदि उपलब्ध ना कराया जाए। कोटपा एक्ट के उल्लंघन पर जुर्माने की कार्यवाही भी सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने कहा कि तंबाकू के प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष विज्ञापन पर प्रतिबंध है। दुकानों के सामने वैधानिक चेतावनी वाला बोर्ड,जिसमें ‘‘तंबाकू से कैंसर होता है‘‘ लिखा हुआ लगाना आवश्यक है। धारा 6 के तहत 18 से कम आयु वर्ग के लोगो को तंबाकू बेचना अपराध है। इसका भी बोर्ड दुकान के सामने लगा होना चाहिए।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसआर बजारे तम्बाकू के उपयोग को हतोत्साहित करने, तम्बाकू के उपयोग से होने वाली गंभीर बीमारियों में कमी लाने, के संबंध में बनाई गई कार्ययोजना एवं विभागीय अधिकारियों की जिम्मेदारी के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जन जागरूकता अभियान के तहत तंबाकू से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी दी जाती है। साथ ही इस संबंध में पोस्टर बेनर एवं विभिन्न माध्यमो से प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है।
बैठक में अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, जिला पंचायत सीईओ श्री गजेंद्र सिंह ठाकुर, सहायक कलेक्टर सुश्री रोमा श्रीवास्तव, एसडीएम सक्ती सुश्री रेना ज़मील सभी एसडीएम, जिला शिक्षा अधिकारी जांजगीर, श्रम अधिकारी, उप संचालक कृषि, खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारी सहित संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Related Articles