देश

CMHO ने टीकाकरण में लापरवाही पर स्टाफ नर्स को किया सस्पेंड, स्वास्थ्य कर्मचारियों को दी चेतावनी

रीवा

सीएचसी-पीएचसी केन्द्रों पर देर से आने वाले चिकित्सकों समेत अन्य स्टाफ की खैर नहीं है। ग्रामीणों को बेहतर इलाज मिले इसको लेकर सीएमएचओ डॉ बीएल मिला ने कसावट शुरू कर दी है। शुक्रवार को मउगंज अस्पताल का निरीक्षण कर सीएमएचओ ने चिकित्सकों की नकेल कसी है। निरीक्षण के दौरान सिविल अस्पताल में सीएमएचओ ने लेबररूम, पैथालॉजी केन्द्र, पोषण पुनर्वास केन्द्र सहित विभिन्न वार्डो का निरीक्षण किया। इससे पहले फील्ड में भ्रमण के दौरान उप-स्वास्थ्य केन्द्र रतनगवां से जुड़े टीकाकरण केन्द्र पर स्टाफ नर्स के नहीं आने पर सस्पेंड कर दिया है। सीएमएचओ ने चेतावनी दी है कि स्वास्थ्य कर्मचारी समय से ड्यूटी पर पहुंचे और इलाज की बेहतर व्यवस्थाए दें। ऐसा नहीं करने वाले चिकित्सक सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सीएमएचओ निरीक्षण के दौरान अस्पताल में भर्ती मरीजों से मिलकर उपचार का फीडबैक लिया। इस दौरान उन्होंने मलेरिया तथा डेंगू जैसे रोगों के बचाव एवं उपचार के लिये लोगों को जागरूक करें। इस दौरान मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण शासन की उच्च प्राथमिकता में शामिल है। उपलब्ध वैक्सीन का उपयोग करते हुए लोगों का टीकाकरण करें। जननी सुरक्षा योजना तथा संस्थागत प्रसव को लेकर निर्देश दिए। पोषण पुनर्वास केन्द्र में उपलब्ध बिस्तरों के अनुसार बच्चों को भर्ती करके उपचार एवं अतिरिक्त पोषण आहार की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए नकेल कसी। सिविल अस्पताल में निरीक्षण के बाद सीएमएचओ उप स्वास्थ्य केन्द्र रतगवां से जुड़े ग्राम गोदरी अंबिकाराम में शिशुओं तथा माताओं के नियमित टीकाकरण का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान टीकाकरण में एएनएम सरोज द्विवेदी अनुपस्थित रहीं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के भरोसे व्वस्था चल रही थी। लापरवाही पर सीएमएचओ ने एएनएम को तत्तकाल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया।

Related Articles