छत्तीसगढ़

अवैध कारोबार गैंग का पर्दाफाश: प्रतिबंधित नशीली टेबलेट 434280 नग और कोरेक्स कफ सिरप 1185 नग बरामद, मुख्य आरोपी फरार

दुर्ग

मोटर साइकिल में फेरी लगाकर आरोपी इन नशीली दवाओं का कारोबार करने वाले एक बड़े गैंग का पुलिस ने पर्दाफाश किया है. गैंग का मुख्य सरगना फिलहाल फरार है। तस्करी करने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरेपियों के कब्जे से विभिन्न कंपनियो की प्रतिबंधित नशीली टेबलेट 434280 नग और कोरेक्स कफ सिरप 1185 नग जिसकी कीमत 20 हजार रुपए है जब्त किया है। पुलिस ने बताया कि 5 सितंबर को रिलांयस पेट्रोल पंप गंजपारा दुर्ग के पास आरोपी सुरेन्द्र सिंह उर्फ अप्पू पिता स्व. चतुर सिंह उम्र 30 साल, सागर पाण्डेय पिता सुनील कुमार पाण्डेय उम्र 28 साल निवासी दुर्ग और श्याम सेन पिता राम कृपाल सेन उम्र 48 साल निवासी जोधापुर जिला धमतरी को अवैध रूप से प्रतिबंधित नशीली दवा अल्फाजोलम बेचते हुए गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के कब्जे से 665 पैकेट अल्फाजोलम प्रत्येक पैकेट में 600 टेबलेट, 21 पैकेट नाईट्राजेपम प्रत्येक पैकेट में 600 टेबलेट, स्पसन् प्लस कैप्सूल 153 पैकेट प्रत्येक पैकेट में 144 कैप्सूल, स्पस टेयकन प्लस कैप्सूल 18 पैकेट प्रत्येक पैकैट में 144 कैप्सूल, अल्फाजोलम ( अल्फाकेयर ) 53 पैकेट प्रत्येक पैकेट में 600 टेबलेट,10 कार्टन में कोरेक्स सिरप प्रत्येक में 100 एमएल कुल 1185 शीशी बरामद किया गया है। आरोपियों के विरूद्ध अपराध क्रमांक 798/2021 धारा 22 ( ख ) 8 , 27 ( ए ) नारकोटिक्स एक्ट के तहत कार्रवाई कर ज्यूडिशियल रिमाण्ड पर न्यायालय पेश किया गया। इस कार्रवाई में कार्यपालिक दण्डाधिकारी नायब तहसीलदार प्रीमत सिंह चौहान, थाना प्रभारी दुर्ग निरीक्षक राजेश बागडे, उनि मुकेश सोरी , सउनि राधेलाल वर्मा, ड्रग्र ऑफिसर दुर्ग बृजराज सिंह, ड्रग ऑफिसर धमतरी संदीप कुमार सूर्यवंशी, प्र.आर. योगेश चन्द्राकर, दुर्ग सिविल टीम के आरक्षक जावेद खान , प्रदीप सिंह, चित्रसेन साहू, धीरेन्द्र यादव, तिलेश्वर राठौर एवं फारूख खान का विशेष योगदान रहा। दुर्ग जिले में एसपी के मार्गदर्शन में प्रतिबंधित टेबलेट बिक्री के खिलाफ अभियान छेड़ा गया है। नशीली दवा के अवैध कारोबार के खिलाफ छेड़े गए अभियान के तहत दुर्ग कोतवाली पुलिस को अवैध रूप से नशीली दवा अल्फाजोलम विक्रय करने वाले को पकडऩे में सफलता प्राप्त हुई है।

Related Articles