धर्म

15 से थम जायेंगे वैवाहिक कार्यक्रम….अगले चार माह तक नही कोई मुहूर्त

इस वर्ष नवंबर और दिसंबर के बीच कुल 13 मुहूर्त ही शेष

डॉ. अनिल तिवारी छत्तीसगढ़
हिंदू धर्म में चातुर्मास के दौरान किसी भी शुभ कार्य को नहीं किया जाता। शादी-विवाह जैसे शुभ कार्य को करने से पहले हमारे यहां शुभ मुहूर्त को सबसे पहले निकाला जाता है। ज्योतिषाचार्य शुभ मुहूर्त और ग्रह नक्षत्रों की अनुकूल स्थिति को देखते हैं, उसके बाद ही शादी की दिन तारीख पड़ती है। शुभ अवसर पर विवाह करने से उसके अच्छे परिणाम फलित होते हैं। दांपत्य जीवन भी काफी खुशहाल होता है। पति-पत्नी के बीच सामंजस्य की स्थिति बनी रहती है। ऐसे में अगर आप अपना जल्द से जल्द विवाह करने की सोच रहें हैं, तो अभी कर लीजिए नहीं तो 15 जुलाई के बाद से आपको 4 महीनों का इंतजार करना पड़ेगा। चातुर्मास से पहले शादी विवाह के लिए अब केवल 2 ही मुहूर्त शेष रह गए हैं, जो कि 13 और 15 जुलाई को पड़ रहें हैं।

मान्यता के अनुसार देवशयनी एकादशी के दिन से भगवान विष्णु क्षीर सागर के भीतर 4 महीनों के लिए योग निद्रा में चले जाते हैं। इसके बाद उनकी निद्रा देवउठनी एकादशी के दिन ही खुलती है। इन चार महीनों के दौरान जगत को भगवान शिव चलाते हैं। चातुर्मास के बीच किसी भी प्रकार के शुभ एवं मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं। मान्यता है कि इस दौरान भगवान गहन निद्रा में होते हैं, ऐसे में उनका आशीर्वाद नहीं मिल पाता। 4 महीनों के बाद जब देवउठनी एकादशी को भगवान निद्रा से जागते हैं। उसके बाद ही सभी मांगलिक कार्यों की शुरुआत होती है। आपको बता दें कि साल 2021 में केवल 51 शुभ मुहूर्त ही हैं। इसमें भी कोरोना के प्रभाव के चलते कई शादियां रुकी रही। 19 जनवरी को गुरु तारा अस्त हो गया था, जो कि 16 अप्रैल के दिन तक अस्त रहा। वहीं दूसरी तरफ शुक्र तारा 16 फरवरी के दिन अस्त हुआ था, जिसका उदय 18 अप्रैल के दिन हुआ।

आपकों बता दे कि शुक्र तारे के उदित होने के बाद से ही शादियां दोबारा शुरू हुईं। शादियों के शुभ मुहुर्त की शुरुआत 22 अप्रैल से हुई थी, जो कि 15 जुलाई तक शेष है। अब अगले शुभ मुहूर्तों की शुरुआत देवउठनी एकादशी के बाद से ही होगी।  इस वर्ष के नवंबर और दिसंबर के बीच कुल 13 मुहूर्त ही शेष होंगे। नवंबर के महीने में कुल 7 मुहूर्त पड़ रहें हैं। 15, 16, 20, 21, 28, 29 और 30 नवंबर को विवाह के लिए काफी शुभ मुहूर्त बन रहे हैं। वहीं 1,2,6,7,11,13 दिसंबर के दिन विवाह का शुभ मुहूर्त निकल रहा है। इसके बाद शादियां आने वाले साल 2022 के शुभ मुहूर्त में होंगी।

Related Articles