छत्तीसगढ़

शराब दुकान में महिलाओं ने जड़ा ताला, SDM बोले- ये सरकार का मामला

अंबिकापुर

गंगापुर में शासकीय शराब दुकान संचालित किया जा रहा है। रिहायशी इलाकों में शराब दुकान संचालित किए जाने का स्थानीय महिलाओं द्वारा कई बार विरोध किया जा चुका है। सामाजिक संगठनों के साथ गंगापुर मोहल्ले की महिलाओं ने शनिवार को शराब दुकान के समीप विरोध प्रदर्शन किया और दुकान में तालेबंदी कर दी। सूचना पर एसडीएम व तहसीलदार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और प्रदर्शन कर रही महिलाओं को समझाइश दी। एसडीएम ने क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ाए जाने का आश्वासन दिया। गौरतलब है कि अंबिकापुर स्थित गंगापुर में शासकीय शराब दुकान संचालित है, जो कि रिहायशी इलाका है। यहां लोगों द्वारा बैठकर शराब सेवन किया जाता है और शराब सेवन कर गाली-गलौज की जाती है। इससे स्थानीय लोगों को परेशानी होती है। इसे लेकर स्थानीय लोगों ने शराब दुकान अन्यत्र स्थान पर ले जाने की मांग जिला प्रशासन से कई बार की है। जिला प्रशासन द्वारा कोई विशेष पहल नहीं किए जाने से स्थानीय महिलाओं में आक्रोश है। शनिवार को सामाजिक संगठनों के साथ स्थानीय महिलाओं ने शराब दुकान के समीप विरोध प्रदर्शन कर वहां तालेबंदी कर दी। सूचना पर एसडीएम और तहसीलदार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं को समझाइश दी। इस दौरान संकल्प यूथ क्लब समाज सेवी संस्था के अध्यक्ष अंकुर सिन्हा, प्रवक्ता आचार्य दिग्विजय सिंह, लीड केयर फाउंडेशन के अध्यक्ष लव कुमार दुबे, राष्ट्रीय महान गणतंत्र पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुजान बिंद, जिलाध्यक्ष सुरेश राम बुनकर, रजनी बिंद, अनिता साहनी, सुनीता, सरोज समेत रीता भारी संख्या में महिलाएं उपस्थित रहीं। स्थानीय महिलाओं द्वारा शराब दुकान में तालेबंदी (Lock) किए जाने की सूचना पर एसडीएम प्रदीप साहू, तहसीलदार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। चर्चा के दौरान एसडीएम (SDM) ने महिलाओं से कहा कि यह शासन का मामला है। जब तक आदेश नहीं आ जाता तब तक शराब दुकान हटाना संभव नहीं है। उन्होंने आश्वासन दिलाया कि क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ाई जाएगी।

Related Articles