देश

घर में मिली 5 लोगों की लाश; भूख से मर गया 9 माह का बच्चा

बेंगलुरु

ब्यादरहल्ली इलाके में स्थित एक घर में एक ही परिवार के पांच सदस्यों की लाश बेहद खराब हालत में मिली हैं. पुलिस जब घर में दाखिल हुई तो उन्होंने पाया कि चार वयस्कों के शव अलग-अलग कमरों में फांसी पर लटके हुए थे, जबकि 9 महीने के एक बच्चे की लाश बिस्तर पर थी. कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि परिवार के सदस्यों की आत्महत्या के बाद बच्चे की मौत भूख के चलते हुई है. इसी तरह का एक मामला साल 2018 में दिल्ली के बुराड़ी में सामने आया था, जहां एक परिवार के 11 सदस्य घर की सीलिंग पर फांसी से लटके पाए गए थे. मृतकों की पहचान भारती (51), सिंचन (34), सिंधुरानी (31) और मधुसागर (25) के रूप में हुई है. एक पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी कि शुक्रवार को जब वे घर में दाखिल हुए तो उन्होंने घर के सदस्यों को फांसी पर लटके हुए पाया. आशंका जताई जा रही है कि पारिवारिक कलह के चलते सदस्यों ने अपना जीवन अंत कर लिया. आशंका है कि परिवार की मौत करीब 4 दिन पहले हुई है. बेंगलुरु पश्चिम के डीसीपी संजीव पाटिल ने कहा, ‘यह मामला तब सामने आया, जब घर के मालिक हालेगिरी शंकर तीन-चार दिनों के बाद घर पहुंचे थे. उन्होंने जानकारी दी कि बीते दो-तीन दिनों से कोई भी उनका कॉल नहीं उठा रहा था. जब वह घर पहुंचे, घर में ताला लगा पाया.’ पाटिल ने आगे बताया कि पुलिस को जानकारी दी गई और दरवाजा तोड़ा गया. उन्होंने कहा, ‘घर में प्रवेश के करने पर चार वयस्कों की शरीर अलग-अलग कमरों में सीलिंग से लटके पाए गए और बच्चा बिस्तर पर मृत मिला.’ उन्होंने जानकारी दी कि ढाई साल की बच्ची को घर से बचाया गया और नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है. घटना के कारणों की जांच की जा रही है. पाटिल ने कहा कि फॉरेंसिक साइंस लेबोरटरी को तलब किया गया और वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं. पुलिस ने जानकारी दी कि भारती, शंकर की पत्नी है और अन्य तीन वयस्क उनके बच्चे हैं. 9 महीने का बच्चा और ढाई साल की बच्ची भारती और शंकर के पोते-पोती हैं.

Related Articles