छत्तीसगढ़

सरकारी दिव्यांग प्रशिक्षण केंद्र में 1 नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म, 5 बच्चियों से भी छेड़छाड़, आरोपी गिरफ्तार

जशपुर

जिले में DMF से संचालित समर्थ आवासीय दिव्यांग ट्रेनिंग सेंटर में रह रही एक 17 साल की दिव्यांग बच्ची से बीते शुक्रवार दुष्कर्म और छेड़छाड़ की गई है. नाबालिग दिव्यांग छात्राओं से आधी रात केंद्र के कर्मचारियों द्वारा दुष्कर्म करने और पांच अन्य मित्रों के साथ कथित तौर पर छेड़छाड़ करने का मामला सामने आया है. इतना ही नहीं दिव्यांग छात्राओं के कपड़े फाड़कर परिसर में दौड़ाया गया है. दरअसल, ये मामला जशपुर जिले के राजीव गांधी शिक्षा मिशन द्वारा संचालित समर्थ दिव्यांग केंद्र का है. पुलिस अधिकारी के मुताबिक खनिज न्यास मद के तहत राजीव गांधी शिक्षा मिशन द्वारा संचालित समर्थ दिव्यांग केंद्र में दो कर्मचारियों के द्वारा नशे की हालत में जमकर उत्पात मचाया. यहां दिव्यांग बच्चियों के साथ मारपीट और छेड़छाड़ के बाद दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है. उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण केन्द्र के एक चौकीदार के भी इसमें शामिल होने की बात सामने आ रही है. इस मामले में दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

जशपुर जिले के एसपी विजय अग्रवाल ने बताया कि यह घटना 22 सितंबर को ‘दिव्यांगों’ के आवासीय प्रशिक्षण केंद्र में हुई. हमें गुरुवार की बीती आधी रात को एक महिला सफाईकर्मी से शिकायत मिली कि कुछ कर्मचारी अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं और केंद्र की नाबालिग बच्चियों को परेशान कर रहे हैं. इस संबंध में सूचना मिलने के बाद पुलिस हरकत में आई. ऐसे में शुक्रवार की सुबह, मैंने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी), प्रतिभा पांडे के नेतृत्व में महिला कर्मियों की एक टीम के साथ जांच के लिए केंद्र भेजा गया था. साथ ही इस मामले की जांच-पड़ताल शुरू की.

घटना 22 सितंबर को ट्रेनिंग सेंटर के अंदर उस वक्त हुई जब सेंटर का वार्डन छुट्टी पर था. श्री अग्रवाल ने कहा कि जांच में पता चला है कि इस मामले में आरोपी 32 साल के कार्यवाहक आरोपी ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया, जबकि केंद्र के एक सुरक्षा गार्ड (33) ने कार्यवाहक के साथ मिलकर 14 से 16 साल की उम्र के पांच नाबालिगों से छेड़छाड़ भी की थी. इस मामले में पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा अजय यादव ने कहा कि लड़कियों को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है और आरोपियों से पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है.

Related Articles