रायपुर

छत्तीसगढ़ के सियासी संकट के बीच तीन और विधायक दिल्ली रवाना, विधायकों की लामबंदी हुई तेज

रायपुर

 रविवार को तीन और विधायक दिल्ली रवाना हो गए। आज दिल्ली जाने वाले विधायकों में देवेंद्र यादव, गुरुदयाल सिंह बंजारे और चंदन कश्यप का नाम शामिल है। इससे पहले शनिवार की सुबह चार विधायक और दिल्ली रवाना हुए और रात को छह विधायकों के दिल्ली जाने की चर्चा है। विधायकों का दावा है कि उनके साथ इस समय 30 से 32 विधायक है। वहीं सूत्रों का कहना है कि दिल्ली में 22 से 25 विधायक मौजूद हैं। आने वाले दिनों में विधायकों की संख्या और बढ़ सकती है। दिल्ली गए विधायकों की किसी वरिष्ठ नेता से मुलाकात नहीं हो सकी। हालांकि इस पूरे घटनाक्रम को पंजाब से जोड़े जाने के सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ ही रहेगा, पंजाब नहीं हो सकता। छत्तीसगढ़ और पंजाब में केवल एक समानता है। पंजाब पांच नदियों का प्रांत है वहीं 36गढ़ के नाम से छत्तीसगढ़ है। देश में और कोई राज्य का नाम अंकों से नहीं है। इसके अलावा दोनों राज्यों में दूसरी कोई समानता नहीं है। कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री बघेल ने कहा, मीडिया इसके पीछे क्यों पड़ी है। विधायक तो आते-जाते रहते हैं। कोई राजनीतिक घटनाक्रम हुआ है क्या? गए हैं तो आ जाएंगे। वे दौरा कर रहे हैं। हर व्यक्ति स्वतंत्र है। कोई आदमी आए-जाए, जब कोई राजनीतिक घटनाक्रम हो तब इसे जोड़ा जाना चाहिए। जब कोई घटना ही नहीं घट रही है तो इस पर इतनी चर्चा क्यूं हो रही है। सीएम पद को लेकर चल रहे विवाद पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा, अब किसके साथ छत्तीसगढ़ खड़ा है और कहां छत्तीसगढ़ डोल रहा है, इसे राहुल गांधी को तय करना है। ये कुर्सी दौड़ को समाप्त किया जाना चाहिए। हर बार विधायक रायपुर छोड़कर दिल्ली में बैठ रहे हैं और बोलते हैं कि हम लोग पर्यटन के लिए गए है। ऐसे में सभी विधायकों को पर्यटन के लिए भेज देना चाहिए।

Related Articles