रायगढ़

पुलिस प्रताड़ना : आदिवासी युवकी की आत्महत्या मामले में ASI सस्पेंड, तीन पर एफआईआर

रायगढ़

रायगढ़ में बुधवार को एक आदिवासी युवक ने फंदा लगाकर जान दे दी। मरने से पहले उसने दीवार पर लिखा कि नमो पटेल और चंद्रा पुलिस ने उसकी जान ली है। आरोप है कि व्यापारी नमो पटेल के दबाव में पुलिस ने मारपीट की FIR दर्ज की थी और अब निपटारे के लिए रुपए का दबाव बना रहे थे। मामला सामने आने के बाद गुरुवार को SP ने ASI अर्जुन चंद्रा को सस्पेंड कर दिया है। 3 के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है। जानकारी के मुताबिक, कोतरा रोड थाना क्षेत्र के गांव उसरौट निवासी ईश्वर प्रसाद सिदार पुत्र मोहन सिदार बुधवार को घर के कमरे में फंदे से लटका मिला। मोहन लाल और उसके भतीजे रमेश सिदार का 4 दिन पहले झगड़ा हुआ था। झगड़े के बाद रमेश ने ईश्वर के खिलाफ FIR करा दी। परिजनों का आरोप है कि एक पुलिसकर्मी ने 20 हजार रुपए मांगे और थाने बुलाया। परिवार के लोग इस संबंध में थाने जा रहे थे। घटना के बाद ईश्वर के परिजन देर शाम गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठ गए थे। उसके पिता मोहन का आरोप है कि उसरौट के व्यवसायी के कहने पर उसके बेटे के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। परिवार को फोन कर बुलाया और थाने में दिनभर बैठाए रखा। एक कर्मी ने बाहर ले जाकर रुपए देने और मामला रफा-दफा करने के लिए कहा। उसके पास रुपए नहीं थे, इसलिए तीन-चार दिन का समय मांगा था। घटना के बाद देर रात तक हंगामा चलता रहा और राजनीति भी शुरू हो गई थी। इसे देखते हुए SP भी रात में धरने पर बैठे परिजनों से मिलने पहुंचे। थाना प्रभारी चमन सिन्हा ने बताया कि ASI अर्जुन चंद्रा सहित तीनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इनमें व्यापारी नमो पटेल और ईश्वर के चचेरे भाई रमेश सिदार का भी नाम है। तीनों पर एक राय होकर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

पुलिस प्रताड़ना : आदिवासी युवकी की आत्महत्या मामले में ASI सस्पेंड, तीन पर एफआईआर Pradakshina Consulting PVT LTD

Related Articles