बिलासपुर

श्वास नली कटने के बाद भी बची गई महिला की जान, सिम्स के डॉक्टरों का कारनामा

बिलासपुर

सिम्स में एक बार फिर जटिल सर्जरी कर एक 22 वर्षीय महिला की जान बचाई गई है। मामूली विवाद होने पर पति ने अपने पत्नी के गले पर इतना खतरनाक हमला किया कि उसकी श्वास नली का कुछ हिस्सा कट गया। ऐसे में उसे सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। ऐसे में चिकित्सकों ने तत्काल जटिल सर्जरी करते हुए महिला की जान बचा ली। अब महिला खतरे से बाहर है। बलौदा बाजार अंतर्गत ग्राम गोरबा निवासी चंदराम खुंटे की अपनी 22 वर्षीय पत्नी से शुक्रवार की सुबह किसी बात को लेकर विवाद होने लगा। धीरे-धीरे विवाद इतना अधिक गहराया कि पति ने धारदार हथियार से पत्नी के गले पर हमला कर दिया। हमला इतना खतरनाक था कि हथियार गले को काटते हुए श्वास नली तक पहुंच गया और नली का कुछ हिस्सा भी कट गया। इससे महिला को सांस लेने में तकलीफ होने लगी और उसकी हालत बिगड़ने लगी। ऐसे में तत्काल उसे बालौदा बाजार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। वहां उसकी हालत देखते हुए तत्काल सिम्स भेज दिया गया। सिम्स के सर्जरी विभाग में जैसे ही महिला पहुंची तो चिकित्सक समझ गए कि तत्काल उपचार करना जरूरी है। इसके बाद ईएनटी डिपार्टमेंट की एचओडी डा. आरती पांडेय के नेतृत्व में निश्चेतना विभाग के डा. मयंक आग्रे और सर्जरी विभाग से डा. विद्याभूषण साहू, डा. श्वेता मित्तल, डा. प्रतीक अग्रवाल और स्टाफ नर्स दीप्ति द्वारा जटिल सर्जरी की गई। इसमें सबसे पहले श्वास नली को जोड़ा गया। इसके बाद गले को पूरी सावधानी से स्टीज लगाकर जोड़ा गया। तकरीबन चार घंटे के बाद सर्जरी सफल हुई। महिला अभी खतरे की स्थिति से बाहर चल रही है।

Related Articles