छत्तीसगढ़

26 नक्सलियों का शव लेकर लौटे जवान, स्वागत में बजाए गए ढोल, 29 हथियार बरामद, 3 जवान भी हैं घायल

जगदलपुर

छत्तीसगढ़- महाराष्ट्र बॉर्डर पर गढ़चिरौली में शनिवार को हुई मुठभेड़ में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। जवानों ने 1.36 करोड़ के 26 माओवादियों को मुठभेड़ में ढेर किया है, जिनमें 4 महिला माओवादी भी शामिल हैं। इन सभी नक्सलियों की शिनाख्त भी हो गई है। मारे गए 26 नक्सलियों के शव को लेकर जवान रविवार को गढ़चिरौली मुख्यालय लौट आए हैं। साथी जवानों ने ऑपरेशन को सफल बनाने वाली टीम का ढोल बजाकर स्वागत किया गया। मारे गए नक्सलियों में एक 50 लाख रुपए का इनामी नक्सली मिलिंद उर्फ दीपक उर्फ जीवा भी शामिल है। यह नक्सलियों के सेंट्रल कमेटी का सदस्य था। इसके अलावा 16 लाख रुपए का इनामी महेश उर्फ शिवाजी गोटा भी शामिल है। यह नक्सली छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के जगरगुंडा का निवासी था। जवानों ने लोकेश उर्फ मंगू पोडयाम कंपनी कमांडर 4 को भी मार गिराने में सफलता पाई है। इस नक्सली पर सरकार ने 20 लाख रुपए का इनाम रखा गया था। मारे गए अन्य नक्सलियों पर 4, 6 और 8 लाख रुपए का इनाम घोषित था। गढ़चिरौली में हुई मुठभेड़ में जवानों ने जिन 26 नक्सलियों को ढेर किया है। उनमें से 7 माओवादी बस्तर के हैं। सभी पर 46 लाख रुपए का इनाम घोषित था। सबसे ज्यादा लोकेश पर 20 लाख रुपए का इनाम था। लच्छू और कोसा पर 4-4 लाख, किसन उर्फ जयमन और सन्नू पर 8-8 लाख रुपए का इनाम था। चेतन 2 लाख रुपए का इनामी था। इनमें एक महिला माओवादी भी शामिल है, जिसकी हिस्ट्री खंगाली जा रही है। गढ़चिरौली के SP अंकित गोयल ने बताया कि लगभग 10 घंटे तक पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ चली। इस मुठभेड़ में 3 जवानों को भी गोली लगी है। तीनों घायल जवानों को नागपुर रेफर किया गया है। उनका इलाज जारी। इधर, घटना स्थल से जवानों ने 5 AK-47, 9 SLR , 1 इंसास, 3 थ्री नॉट थ्री, 9 बारा बोर बंदूक समेत 1 पिस्टल बरामद की गई है। कुल 29 हथियार समेत भारी मात्रा में अन्य सामना भी बरामद किए गए हैं। गढ़चिरौली एनकाउंटर में जवानों ने खूंखार नक्सली मिलिंद को भी मार गिराया है। इस पर 50 लाख रुपए का इनाम घोषित था। यह कई बड़ी घटनाओं में भी शामिल रहा है। यह नक्सलियों को गोरिल्ला युद्ध प्रशिक्षण देने के लिए शिविर आयोजित करता था। इससे प्रशिक्षण लिए कई लीडर आज महाराष्ट्र, तेलंगाना, छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्य में तांडव मचा रहे हैं। मिलिंद की पत्नी भी माओवाद संगठन में थी , जिसे 2011 में गिरफ्तार कर लिया गया है।

Related Articles