जांजगीर चांपा

जांजगीर-चांपा जिला प्रशासन हुआ सख्त….कोविड प्रोटोकॉल का नही किया पालन तो होगी कार्रवाई

राजस्व, पुलिस और स्थानीय निकाय संयुक्त अभियान चलाएं - कलेक्टर

जांजगीर-चांपा
कोरोना संक्रमण के नियंत्रण और सार्वजनिक स्वास्थ्य की सुरक्षा के मद्देनजर कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई पूर्वक पालन सुनिश्चित करने राजस्व, स्वास्थ्य, पुलिस और नगरीय निकाय के अधिकारियों की संयुक्त टीम कार्रवाई करेगी। जिले के रेलवे स्टेशनों में प्रवासी श्रमिकों, यात्रियों की नियमित कोविड टेस्ट जारी रहेगी।
कलेक्टर श्री जितेंद्र कुमार शुक्ला और पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत कुमार ठाकुर ने आज जिला कार्यालय में राजस्व ,पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त बैठक ली। कलेक्टर ने कहा कि कोविड की दूसरी लहर अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुई है । कोविड संक्रमण के फैलने की आशंका बनी हुई है साथ ही कोविड के संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी की जा रही है। ऐसे समय में राजस्व, पुलिस और स्थानीय निकाय द्वारा संयुक्त अभियान चलाकर कोविड नियंत्रण के लिए समुचित उपाय करने की आवश्यकता है। सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ कार्रवाई, फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करवाना,भीड़ को नियंत्रित करने जैसे उपाय किया जाना आवश्यक है।

कलेक्टर ने कहा कि किसी क्षेत्र में पांच से ज्यादा व्यक्ति संक्रमित पाए जाने पर संबंधित एसडीएम कंटेनमेंट जोन अथवा माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने हेतु प्रस्ताव भेजें। कलेक्टर ने कहा कि प्रतिदिन जारी होने वाले जिले की मेडिकल बुलेटिन के आधार पर सभी एसडीएम संबंधित जनपद सीईओ, बीएमओ और स्थानीय निकायों के साथ प्रतिदिन बैठक में समीक्षा करें। जिस गांव या नगर में संक्रमितों की संख्या अधिक होगी। वहां कोविड जांच की संख्या बढ़ाने, कांटेक्ट ट्रेसिंग करवाने और दवा किट वितरण कराने की कार्रवाई तत्काल करवाई जाए।

कलेक्टर ने कहा कि जिले के 5 रेलवे स्टेशनों में आने वाले यात्रियों की कोविड जांच जारी रहेगी। रेलवे स्टेशन में जांच के दौरान पुलिस बल भी तैनात रहेंगे। उन्होंने राजस्व अधिकारियों से कहा कि वे स्टेशन मास्टर से समन्वय बना कर कार्य करें।

कलेक्टर ने कहा कि विवाह, दशगात्र एवं विवाह कार्यक्रमों में 50 से अधिक व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति नही है। जहां भी 50 से अधिक व्यक्ति एकत्रित होंगे वहां राजस्व, पुलिस विभाग द्वारा संयुक्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में ऐसे कार्यक्रमों पर निगरानी रखें।

कलेक्टर ने कहा कि गांव के कोटवार पंजी में दर्ज बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी के अनुसार कोविड जांच व कांटेक्ट ट्रेसिंग की कार्रवाई की जाए। कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों से कहा कि अपने-अपने क्षेत्र के पुराने कोविड केयर सेंटर्स की अद्यतन स्थिति की जानकारी रखें। आवश्यकता अनुसार इन सेंटर्स का तत्काल उपयोग किया जा सके,ऐसी स्थिति में होनी चाहिए। कलेक्टर ने वेंटिलेटर्स ,ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, बेड आदि की भी जानकारी एकत्रित करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने कहा कि जिले में वर्तमान में कोरोना संक्रमितों की संख्या- 254 से अधिक है। जिनमें ज्यादातर होम आइसोलेशन पर है। उन्होंने होम आइसोलेशन के नियमों का कड़ाई से पालन करवाने के निर्देश दिए जिससे संक्रमण का फैलाव न हो। कलेक्टर ने होम आइसोलेशन के नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि ऐसे स्थानों को भी चिन्हित करें जहां जिले से बाहर लोगों का आना-जाना नियमित बना रहता है। उन स्थानों पर शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए भी कार्य योजना बनाई जाए।कोविड टीके की उपलब्धता के आधार पर प्राथमिकता के साथ इन चिन्हांकित स्थानों पर टीकाकरण किया जाए।

पुलिस अधीक्षक श्री ठाकुर ने कहा कि कोविड नियंत्रण के लिए तथा अन्य अवसरों पर कानून ब्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए जिला प्रशासन और पुलिस एक टीम के रूप में कार्य करेगी। इसके लिए थाना व तहसील स्तर में भी राजस्व अधिकारी और पुलिस अधिकारी नियमित रूप से संपर्क में रहें और समन्वय के साथ कार्य करें।

बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री गजेंद्र सिंह ठाकुर, अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, सहायक कलेक्टर सुश्री रेना जमील, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय महादेवा, सीएमएचओ डॉ एस आर बंजारे सहित राजस्व अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles