रायपुर

छत्तीसगढ़ में अलर्ट जारी: कोरोना संकट के बीच जीका वायरस की नई मुसीबत

रायपुर

छत्तीसगढ़ में रोजाना 300 नए मरीज रिपोर्ट हो रहे हैं और 3 जानें जा रही हैं। इस बीच जीका वायरस नाम की नई मुसीबत केरल तक जा पहुंची है। वहां 28 मरीज मिले हैं। पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश में 2018 में जीका संक्रमित मरीज मिलने के बाद अलर्ट जारी कर दिया है। इन्हीं सब परिस्थितियों को देखते हुए छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। विभाग ने सभी जिला सीएमएचओ को गाइडलाइन मेल कर दी गई हैं। हालांकि कभी भी छत्तीसगढ़ में जीका का केस रिपोर्ट नहीं हुआ है, मगर खतरा तो है ही।

एडीज एजेप्टाइ मच्छर (मादा) के काटने से होने वाली इस बीमारी का खतरा इसलिए भी अधिक है क्योंकि राज्य के कई जिले खासकर बस्तर और सरगुजा संभाग मच्छर प्रभावित जिले माने जाते हैं।यह वायरस बच्चों और गर्भवतियों के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक माना जाता है। इसलिए इनका विशेष ध्यान रखने के निर्देश जिलों को दिए गए हैं। साथ ही यह भी कहा गया है कि अगर किसी व्यक्ति में बीमारी के लक्षण दिखते हैं तो तत्काल ब्लड सैंपल लेकर जांच करवाएं।

एडीज एजेप्टाइ मच्छर (मादा) के काटने से ही डेंगू, चिकनगुनिया और इसके काटने से ही जीका वायरस से व्यक्ति ग्रसित हो जाता है।यह मच्छर किसी संक्रमित व्यक्ति को काटता है और फिर किसी अन्य व्यक्ति को काटने पर वह वायरस एक से दूसरे में पहुंचता है। सावधानी की बचाव है।

Related Articles