जांजगीर चांपा

जम्मू में बंधक बने जांजगीर-चांपा जिले के 40 मजूदर श्रमिकों को जिला प्रशासन ने महज 3 घंटे में कराया मुक्त

जांजगीर-चांपा जिला प्रशासन की त्वरित कार्रवाई

जांजगीर-चांपा

कलेक्टर श्री जितेंद्र कुमार शुक्ला के निर्देश पर त्वरित कार्यवाही करते हुए अनंतनाग (जम्मू कश्मीर) में बंधक बनाए गए 40 मजदूरों को सूचना मिलने के 3 घंटे के भीतर मुक्त कराया गया। मजदूरों द्वारा उन्हें बंधक बनाए जाने की सूचना कलेक्टर श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला को आज शाम 5 बजे मिली। सूचना मिलते ही उन्होंने श्रम पदाधिकारी को मजदूरों को मुक्त कराने की त्वरित कार्रवाई के लिए निर्देशित किया। अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम ने अनंतनाग जिले के उपायुक्त को पत्र जारी कर मजदूरों से प्राप्त बंधक बनाए जाने की सूचना से अवगत कराते हुए श्रमिकों को मुक्त कराने पत्र भेजकर अनुरोध किया।

शिकायतकर्ता आवेदकगण श्री विजेन्द्र कुमार निराला एवं अन्य ग्राम हरेठीकला, तहसील- जैजैपुर, द्वारा 7अगस्त को जांजगीर-चांपा जिला प्रशासन को अवगत कराया गया कि ग्राम हरेठीकला और जिले के अन्य ग्रामों के 40 श्रमिकों को ईट भट्ठा मालिक सौकत हुसैन मीर एवं भट्ठे का मुंशी श्री सहिदवानी, ग्राम निपोरा, नियर मोर बजार, तहसील और जिला- अनंतनाग (जम्मू कश्मीर) द्वारा बंधक बनाकर काम कराया जा रहा है ।श्रमिकों को कार्य की मजदूरी भी नहीं दी जा रही है। कई श्रमिक बीमार है उन्हें खाना नहीं दिया जा रहा है । उनके साथ मारपीट की जा रही है । श्रमिकों को अपने गृह ग्राम वापस नहीं आने दिया जा रहा है।

श्रमिकों से मिली उक्त शिकायत का उल्लेख करते हुए अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम ने अनंतनाग के उपायुक्त को अवगत कराया और श्रमिकों को भट्ठा मालिक के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही करते हुए बंधक श्रमिकों को मुक्त कराने और उन्हें उनके गृह ग्राम वापस भिजवाने का अनुरोध किया गया। जांजगीर-चांपा जिला प्रशासन के उक्त पत्र के आधार पर उपायुक्त अनंतनाग द्वारा शीघ्र कार्रवाई कर बंधक बनाए गए सभी 40 श्रमिकों को मुक्त कराया गया।

Related Articles