छत्तीसगढ़

39 जवानों के हत्यारे 3 इनामी माओवादियों ने किया सरेंडर

जगदलपुर/दंतेवाड़ा

‘लोन वर्राटू’ अभियान से प्रभावित होकर शनिवार को CRPF DIG विनय कुमार सिंह और SP डॉ अभिषेक पल्लव के सामने 14 लाख रुपए के 3 इनामी नक्सलियों ने सरेंडर किया है। यह तीनों नक्सली कई बड़ी घटनाओं में शामिल रहे हैं। इनमें 8 लाख रुपए का इनामी नक्सली राजू ताती 39 जवानों की हत्या में शामिल रहा है। वहीं जीरा अलामी के ऊपर 5 लाख तो कुम्मा बारसे पर 1 लाख रुपए का इनाम है। दंतेवाड़ा पुलिस इसे बड़ी कामयाबी बता रही है। ‘लोन वर्राटू’ अभियान के तहत जिले में अब तक 403 नक्सली सरेंडर कर चुके हैं। दंतेवाड़ा पुलिस के मुताबिक रोशन ताती उर्फ राजू नक्सलियों के दण्डकारण्य स्पेशल जोनल सीएनएम का उप प्रभारी है। संगठन में रहते हुए राजू साल 2014 में सुकमा जिले के कसालपाड़ इलाके में हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़ में शामिल रहा है। इस घटना में 14 जवान शहीद हुए थे। साल 2015 में सुकमा जिले के ही बुरकापाल में पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में भी शामिल था। इस मुठभेड़ में 25 जवान शहीद हुए थे। इन दोनों घटनाओं को अंजाम देने के बाद राजू घटना स्थल की ही वीडियो रिकॉर्डिंग का काम करता था। राजू अब ‘लोन वर्राटू’ अभियान से प्रभावित होकर मुख्यधारा में लौट आया है।इधर, नक्सलियों के बारसूर एरिया कमेटी सदस्य जीरा उर्फ सुकलू अलामी व DAKMS अध्यक्ष कुम्मा बारसे ने भी हिंसा का रास्ता छोड़ दिया है। यह दोनों नक्सली भी पिछले कई सालों से संगठन से जुड़कर इलाके में तांडव मचा रहे थे। जीरा के ऊपर 5 लाख का तो वहीं कुम्मा के ऊपर 1 लाख रुपए का इनाम घोषित है। जीरा साल 2020 में इंद्रावती नदी के पार बसे हांदावाड़ा गांव के सरपंच की हत्या करने की घटना में शामिल था। सरपंच ने हांदावाड़ा में पुलिस कैंप खोलने व इलाके में विकास करने की पुलिस से मांग की थी। DAKMS अध्यक्ष कुम्मा साल 2013 में बचेली गैस गोदाम के पीछे पुलिस पार्टी पर हमला करने की घटना में शामिल था। इस घटना में 2 जवान शहीद व 3 जवान घायल हुए थे।दंतेवाड़ा SP डॉ अभिषेक पल्लव ने कहा कि ये सभी पिछले कई सालों से संगठन में जुड़कर काम कर रहे थे। राजू DKSZC चंदू के साथ रह कर काम कर रहा था। कई पुलिस जवानों की हत्या में भी शामिल रहा है। स्वतंत्रता दिवस से पहले तीनों के सरेंडर करने से एक अच्छा माहौल देखने को मिलेगा। जिले में लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर अब तक 107 इनामी समेत कुल 403 नक्सली सरेंडर कर चुके हैं।

Related Articles