रायपुर

साइबर ठग कर रहे वाट्सएप हैक….करीबियों से मांग रहे पैसे

रायपुर

साइबर ठगों ने ठगी का एक और नया तरीका खोज निकाला है।अब वाट्सएप अकाउंट को हैक कर ठगी की वारदात कर रहे हैं। इसको लेकर रायपुर पुलिस ने अलर्ट जारी किया है। पुलिस ने लोगों को इससे बचने के लिए आगाह किया है। बता दें कि मोबाइल भले ही किसी के हाथ में रहे, उसका वाट्सअप ठग आपरेट करते हैं। वे कहीं से भी बैठकर वाट्सअप में दोस्तों और परिचितों को मैसेज कर किसी न किसी मुसीबत में फंसने का हवाला देकर पैसे मांगते हैं। साइबर प्रभारी वीरेंद्र चंद्रा ने बताया कि अधिकांश लोग वाट्सएप और फेसबुक उपयोग करते हैं, लेकिन उनके फीचर की जानकारी नहीं रहती है। वाट्सएप में सेटिंग का विकल्प होता है। उसमें अकाउंट को क्लिक करें। उसमें टू-स्टेप वेरिफिकेशन आप्शन को क्लिक करें। इसमें पीन नंबर, ई-मेल का विकल्प होता है। फिर पिन में जाकर पासवर्ड डालें और अपना मेल अपलोड करें। इससे वाट्सएप सुरक्षित हो जाएगा।

वाट्सएप हैक होने पर यह करें
– सबसे पहले आप अपने वाट्सएप को रि-इनस्टाल करें।
– मोबाइल नंबर से वाट्सएप को रजिस्टर करें।
– मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी को इंटर करें।
– ओटीपी इंटर करने के बाद 06 डिजिट को पूछा जाएगा। जिस पर आप बार-बार फारगेट बटन को क्लिक करें।
– सात दिनों के बाद आपका अकाउंट रिसेट हो जाएगा।

इस बात का रखें ध्यान
यदि सात दिनों के भीतर आपको लगता है कि आपके अकाउंट का गलत उपयोग किया जा सकता है तो आप अपने परिचितों से वाट्सएप नंबर को रिपोर्ट करने बोल सकते हैं। रिपोर्ट होने पर आपके नंबर से अकाउंट को कुछ दिनों के लिए ब्लाक कर दिया जाएगा। जिस आप भविष्य में वाट्सएप हेल्प की मदद से पुन: प्राप्त कर सकते हैं।

Related Articles