छत्तीसगढ़

ट्रांसपोर्टर ने RTO की उड़नदस्ता टीम को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, टैक्स जमा नहीं करने पर ट्रक जब्त कर ले जा रही थी टीम, तभी गुंडों की फौज लेकर धमका ट्रांसपोर्टर

दुर्ग

एक ट्रांसपोर्टर की गुंडागर्दी का अजीब मामला सामने आया है। ट्रांसपोर्टर ने पहले तो टैक्स जमा नहीं किया, टैक्स भरने की नोटिस भेजने के बावजूद उसके कानों पर जूं तक नहीं रेंगी। और फिर जब RTO के उड़नदस्ता टीम ने टैक्स न जमा करने पर ट्रक को जब्त किया तो ट्रांसपोर्टर अपने गुंडे लेकर पहुंच गया। उसने उड़नदस्ता टीम पर हमला कर अपवनी ट्रक लेकर भाग निकला। इसके बाद बुधवार को इसकी शिकायत दुर्ग कोतवाली में दर्ज कराई गई है। RTO की टीम ने अपनी शिकायत में कहा है कि वह अपनी टीम के साथ टैक्स नहीं जमा करने वाले वाहनों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे थे। इस दौरान रायपुर नंबर की एक गाड़ी का 3 लाख 23 हजार 773 रुपए टैक्स बकाया मिला। इस पर उन्होंने वाहन मालिक संतराबाड़ी निवासी संदीप सिंह कंडा को नोटिस जारी कर टैक्स अदा करने का निर्देश दिया। ट्रांसपोर्टर संदीप सिंह ने टैक्स जमा नहीं किया और वाहन चलाता रहा। फिर जब उड़नदस्ता टीम के साथ 11 अक्टूबर दोपहर तीन बजे वाहन जब्त कर दुर्ग परिवहन विभाग कार्यालय ला रहे थे। इसी बीच गाड़ी मालिक आधा दर्जन अपने साथियों के साथ पहुंचा। उसने उड़नदस्ता टीम को दुर्ग महिला कालेज के पास रोक लिया। RTO के सिपाही अशोक आडिल ने उसे सामने से हटने के लिए बोला तो संदीप व उसके साथी धक्का मुक्की करने लगे और उसे ट्रक से जबरदस्ती नीचे उतार दिया। इसके बाद उन्होंने उड़नदस्ता टीम के साथ मारपीट किया और ट्रक लेकर चला गया। इस घटना के प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक ट्रांसपोर्टर संदीप काफी गुस्से में था। वह परिवहन विभाग के सिपाहियों से गाली गलौज कर उन्हें मारने के लिए दौड़ रहा था। आखिर में आरटीओ की उड़नदस्ता टीम ने अपनी जान बचाना ही उचित समझा। उन्होंने तुरंत पुलिस को फोन किया। जब तक पुलिस आती उससे पहले ही संदीप अपने गुंडों के बल पर गाड़ी छुड़ा कर ले गया। बाद में उड़नदस्ता प्रभारी विकास शर्मा ने कोतवाली थाने जाकर संदीप कंडा और उसके साथियों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने और लोक सेवक को अपने कर्तव्य के निर्वाहन में हमला करने के उद्देश्य से भय में डालकर मारपीट करने की शिकायत दर्ज कराई।​

Related Articles