जांजगीर चांपा

जांजगीर-चांपा: हर्षाेल्लास के साथ होगा एक दिवसीय राज्योत्सव का आयोजन….अधिकारियों को सौंपे गए दायित्व

  • जिला मुख्यालय के सभी शासकीय भवनों पर की जाएगी रौशनी
  • स्थानीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किए जाएंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम

जांजगीर-चांपा

राज्य सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग के निर्देशानुसार छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर 1 नवंबर को जिला मुख्यालय जांजगीर में राज्योत्सव का रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। कलेक्टर श्री जितेंद्र कुमार शुक्ला के निर्देश पर अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम और जिला पंचायत सीईओ श्री गजेंद्र सिंह ठाकुर ने आज जिला कार्यालय के सभाकक्ष में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर कार्यक्रम की रूपरेखा की तैयारी के संबंध में चर्चा की। राज्य स्थापना दिवस 1 नवंबर की रात्रि को जिला मुख्यालय के सभी शासकीय भवनों में रोशनी करने के निर्देश दिए गए हैं।
अपर कलेक्टर ने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिला मुख्यालय जांजगीर के स्वामी आत्मानंद शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूल मैदान में एक दिवसीय राज्य उत्सव का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम स्थल पर सभी विभागों द्वारा योजनाओं की उपलब्धि एवं योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए प्रदर्शनी का आयोजन होगा। कार्यक्रम के दौरान स्थानीय कलाकारों और विद्यालय-महाविद्यालयीन विद्यार्थियों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा। विभिन्न विभागीय योजनाओं के तहत हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा। हितग्राहियों की सूची तैयार करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया गया है।

जांजगीर-चांपा: हर्षाेल्लास के साथ होगा एक दिवसीय राज्योत्सव का आयोजन....अधिकारियों को सौंपे गए दायित्व Pradakshina Consulting PVT LTD

अधिकारियों को सौपी गई जिम्मेदारी –

मंच तथा पंडाल व्यवस्था के लिए नगर पालिका सीएमओ जांजगीर-नैला और लोक निर्माण विभाग के ईई को जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसी प्रकार सांस्कृतिक कार्यक्रमों की जिम्मेदारी सहायक आयुक्त आदिवासी विभाग, जिला खेल अधिकारी और जिला शिक्षा अधिकारियों को दी गई है। कार्यक्रम स्थल पर पीएचई द्वारा पेयजल, विद्युत विभाग द्वारा विद्युत व्यवस्था की जाएगी। कार्यक्रम के दौरान वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी की जिम्मेदारी जल संसाधन विभाग सहित विभिन्न गतिविधियों से संबंधित जिम्मेदारी अन्य विभागों को सौंपी गई है। वन विभाग, महिला एवं बाल विकास, कृषि, शिक्षा विभाग, जिला पंचायत, वन विभाग, स्वास्थ्य विभाग सहित विभिन्न विभागों द्वारा विभागीय योजनाओं की उपलब्धियों की जानकारी प्रदर्शनी के माध्यम से दी जाएगी। सांस्कृतिक कार्यक्रमों और प्रदर्शनी की सूची थीम के साथ प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं। बैठक के दौरान विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles