छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ : पानी के टैंकर में तस्करी करते पुलिस ने पकड़ा 2.60 क्विंटल गांजा की बड़ी खेप, ट्रक ड्राइवर भागने में रहा सफल

महासमुंद

छत्तीसगढ़ में गांजा तस्करी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। एक बार फिर पुलिस ने महासमुंद जिले से 2 क्विंटल 60 किलो गांजा बरामद किया है। आरोपी यहां ट्रक के माध्यम से प्लास्टिक पानी के टैंकर में 52 लाख का गांजा छिपाकर ले जा रहा था। जिसे पुलिस ने टेमरी के पास से पकड़ लिया है। लेकिन आरोपी ट्रक चालक मौके से फरार हो गया है। जिसके बाद पुलिस अज्ञात ट्रक चालक और वाहन मालिक के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। इसके 2 दिन पहले ही जिले में पुलिस ने 88 किलो गांजा बरामद किया था। इस प्रकार 2 दिन के अंदर ही जिले में अब तक करीब 70 लाख का गांजा पकड़ा गया है। दरअसल, कोमाखान पुलिस को रविवार को सूचना मिली थी कि रविवार रात ही जिले में फिर से गांजे का अवैध परिवहन होने वाला है। जिसके चलते पुलिस ने अंतरराज्यीय जांच नाका टेमरी में पुलिस को तैनात किया था और पुलिस नाके पर दूसरे राज्यों से आने वाली गाड़ियों की जांच में लगी हुई थी। इस बीच सोमवार सुबह 4 बजे ओडिशा की ओर से 12 पहिया ट्रक भी नाके की ओर आ रहा था। जिसे पुलिस ने रोकने के लिए कहा, पर ड्राइवर ने यह कहते हुए गाड़ी नहीं रोक कि वो ट्रक को किनारे लगा रहे है और भागने लग गया। जिसके बाद पुलिस को शक हुआ और पुलिस ट्रक का पीछे करने लगी। इसी दौरान ड्राइवर अंधेरे का फायदा उठाते हुए टेमरी काली मंदिर के पास ट्रक छोड़कर भाग निकला।

2 टंकियों में छिपाया था गांजा

इधऱ्, पुलिस ने ट्रक की तलाशी की जिसमें 20 नग सिंटेक्स प्लास्टिक पानी की टंकी रखी हुई थी। पुलिस ने तलाश की तो इन्हीं टंकियों में से 2 टंकियों में 2 क्विंटल 60 किलो गांजा रखा हुआ था। जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। वहीं ट्रक की तलाशी लेने पर जो दस्तावेज मिले हैं। उसके मुताबिक ट्रक पश्चिम बंगाल का है और वाहन मालिक भी बंगाल का रहने वाला रमाकांत पांडे है। जिसके खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है और इस बात का पता लगा रही है कि आखिर ट्रक ओडिशा की तरफ से किस तरफ जा रहा था। पकड़े गए ट्रक को भी पुलिस ने जब्त कर लिया है।

09 जुलाई की रात को पकड़ाया गांजा

जिले में गांजे तस्करी का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे 2 दिन पहले 09 जुलाई की रात को भी पुलिस ने अंतरराज्यीय बॉर्डर लिलेसर नदी घाट से 88 किलो गांजा बरामद किया था। जब्त गांजे की कीमत 17 लाख 60 हजार रुपए बताई गई थी। उस मामले में भी आरोपी फरार हो गया था। आरोपी का नाम बुंदेली पुलिस ने देवलाल बरिहा बताया था। वहीं जिले में ही 17 दिन पहले पुलिस ने 1300 किलो गांजा बरामद किया था। जिसकी कीमत 2.60 करोड़ रुपए थी।

Related Articles