छत्तीसगढ़

शादीशुदा महिला ने झूठ बोलकर की शादी, लाखों रुपये हड़पने के बाद लगाया दुष्कर्म में आरोप में कथित पति को भेजा जेल

रायपुर

राजधानी में एक महिला ने आशिक को अपने जाल में फंसाकर पहले लाखों रुपये लूट लिए।पीछा छुड़वाने झूठे दुष्कर्म केस में जेल भेजवा दिया। लेकिन अब पुलिस ने जेल में बंद आरोपित की शिकायत पर महिला के खिलाफ धोखाधड़ी, वसूली सहित गंभीर धाराओं में अपराध दर्ज कर उसे ही हवालात भेज दिया है। आरंग थाना प्रभारी लेखधर दीवान ने बताया कि पीड़ित पारसमणि चंद्राकर का आवेदन केंद्रीय जेल रायपुर से प्राप्त हुआ था। जांच के बाद महिला व उसके तथाकथित पति के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। थाना प्रभारी दीवान ने बताया कि पीड़ित और आरोपित महिला का संपर्क लगभग नौ वर्ष पूर्व हुआ था। जहां महिला ने पीड़ित को धोखे में रखते हुए यह नहीं बताया था कि वह शादीशुदा और दो बच्चो की मां है। महिला आरोपित ने पहले पारसमणि को धोखे में रखकर उसे जाल में फंसाया और गायत्री मंदिर जगदलपुर में शादी कर ली। इसके बाद खुद के पति और बच्चो को भाई-भतीजा बताने लगी। इस दौरान महिला ने पारसमणि से स्वयं के जीवन यापन के लिए जमीन, मकान, दुकान, सोना-चांदी सहित करोड़ो की संपत्ति खरीदवा कर अपने नाम कर ली। पीड़ित ने बताया कि महिला के जगदलपुर स्थित निवास के भी नवीनीकरण में उसने लाखों रुपये खर्च किया है। महिला ने पारसमणि के साथ कई टूर भी लगाए। पारसमणि ने अपनी शिकायत में बताया है कि महिला के साथ उसने लाखों रुपये सफ़र में खर्चा किया है और उसे मुंबई, कोलकाता, गोवा, नेपाल सहित सैकड़ों यात्राएं करवाई है। इसके बाद महिला के पारसमणि से मन भरजाने पर उसे रायपुर के खमतराई थाना में अपने बच्चे से झूठी शिकायत करवाकर पास्को एक्ट के तहत जेल भिजवा दिया।

Related Articles