छत्तीसगढ़

चंद पैसों के लिए ली भतीजे की जान : पिता-पुत्र गिरफ्तार, एक फरार

बिलासपुर

200 रुपए के लेनदेन के विवाद पर रिश्तेदारों में खूनी संघर्ष हो गया। फूफा और उसके दो बेटों ने मिलकर चाकू मारकर भतीजे की हत्या कर दी। वारदात के बाद पुलिस ने आरोपी पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी अभी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है। थाना प्रभारी ने बताया कि घटना मंगलवार की सुबह करीब 8.30 बजे की है। जरहाभाठा मिनी बस्ती में रहने वाला 28 वर्षीय गोला उर्फ धरमू बंजारे गैस गोदाम में गैस डिलीवरी का काम करता था। उसने मोहल्ले में ही रहने वाले अपने फुफेरे भाई नरेंद्र जांगड़े को 200 रुपए उधार दिया था। मंगलवार की सुबह वह रुपए मांगने गया था। इसी बात को लेकर नरेंद्र व उसके भाई अजय जांगड़े से उसका विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि नरेंद्र और अजय के पिता धरम जांगड़े भी आ गया। देखते ही देखते गाली-गलौज होने लगी और उनमे से एक ने चाकू निकाला और धरमू पर हमला कर दिया। जिसे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। चाकूबाजी और हत्या की खबर मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई। वारदात के बाद आरोपी अजय जांगड़े फरार हो गया। पुलिस ने धरम जांगड़े व उसके बेटे नरेंद्र जांगड़े को गिरफ्तार कर लिया है। इधर, फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। चाकूबाजी की घटना हुई, तब धरमू के पिता अवधराम बंजारे गैस गोदाम में काम करने गया था। मोहल्ले के लोगों ने उसे वारदात की सूचना दी। खबर मिलते ही वह मौके पर पहुंचा। उसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ हत्या का अपराध दर्ज कर लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी अजय जांगड़े नशे का आदी है। नए साल में उन्होंने रिश्तेदारों के साथ मिलकर पार्टी भी किया था। नए साल में जश्न मनाने के दौरान ही आरोपी नरेंद्र ने धरमू से 200 रुपए उधार लिया था।

Related Articles