छत्तीसगढ़

बच्चों से गुटखा मंगाने वाले शिक्षकों के खिलाफ पालकों ने खोला मोर्चा, स्कूल में जड़ा ताला, पालकों की मांग- विभाग करे कार्रवाई

धमतरी

मामला धमतरी ब्लाक के ग्राम पीपरछेड़ी का है। पालकों का आरोप है कि यहां प्रायमरी स्कूल के शिक्षक बच्चों से तंबाकूयुक्त गुटखा मंगाते हैं। यही नहीं, वे यहां गुटखा खाते हुए बच्चों को पढ़ाते हैं। शिक्षकों द्वारा बच्चों से गुटखा मंगाने की जानकारी जब पालकों को हुई तो उन्होंने इसका विरोध किया। तीन-चार माह पहले उन्होंने आवेदन देकर शिक्षकों के स्थानांतरण की मांग की थी, लेकिन इस मामले में अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया और शिक्षकों की मनमानी चलती रही। इसे लेकर पालकों और ग्रामीणों में नाराजगी है। गुरूवार को उनका आक्रोश फूट पड़ा और उन्होंने स्कूल में ताला जड़ दिया। बच्चों को उन्होंने स्कूल नहीं भेजने का निर्णय लिया। स्कूल में तालाबंदी की शिकायत जब अधिकारियों तक पहुंची, तो वे स्कूल पहुंचे। काफी समझाइश के बाद पालक माने और स्कूल का ताला खुला। पालक नूतेश कुमार, एकानंद देशमुख, शेखर देशमुख, कान्हा साहू आदि ने बताया कि हर बच्चा अपने शिक्षकों का अनुसरण करता है। ऐसे में डर है कि कहीं उनका बच्चा भी शिक्षकों को देखकर गुटखा खाना न सीख जाए। उन्होंने बताया कि दोनों शिक्षकों का व्यवहार पालकों से काफी खराब है। अधिकांश पालक उनकी पढ़ाई से असंतुष्ट है और अब आगे बच्चों का भविष्य खराब होते नहीं देख सकते हैं, इस कारण उन्होंने स्कूल में तालाबंदी का निर्णय लिया।

Related Articles