Advertisement
देश

असम में बाढ़ का कहर, अब तक 39 मौत, मुख्यमंत्री ने जताई चिंता

असम

पूर्वोत्तर राज्य असम पूरी तरह से बाढ़ में डूब गया है, जिससे बचने के लिए लोग अपने-अपने घरों से निकलने के लिए मजबूर हो गए हैं. इस बाढ़ से लगभग 10 जिलों में लगभग 1 लाख से ज्यादा आबादी के लोग प्रभावित हुए हैं. असम की ऐसी गंभीर स्थिति पर मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने राज्य में बाढ़ की वजह से बिगड़ती स्थिति पर चिंता जताते हुए एक्स पर पोस्ट किया है.

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर अपने अकाउंट से पोस्ट करते हुए लिखा है कि बाढ़ की वजह से राज्य की स्थिति बेहद गंभीर बनी हुई है, जिससे 10 जिलों में 1.17 लाख से अधिक आबादी प्रभावित हुए हैं. बाढ़ से प्रभावित जिलों के 27 राजस्व क्षेत्र के 968 गांव बाढ़ से पूरी तरह जलमग्न हो गए हैं.

बाढ़ से बचने के लिए चलाए जा रहे 134 रिलीफ कैंप
उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा कि बाढ़ से राहत के लिए अभी के समय में अधिकारी करीब 134 रिलीफ कैंप और करीब 94 रिलीफ डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर चला रहे हैं. इन सभी रिलीफ कैंप में कुल 17,661 लोगों ने बाढ़ से बचने के लिए शरण ली है. खतरे की बात करते हुए सीएम ने कहा कि बराक के करीमगंज में कुशियारा नदी अभी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है.

पहले की तुलना में कम हुई बाढ़ से प्रभावितों की संख्या
असम राज्य के डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (एएसडीएमए) के मुताबिक, अभी तक 39 लोगों की मौत हो चुकी है और पिछले 24 घंटे में दो लोगों की मौत की सूचना आई है, इसके साथ ही उन्होंने थोड़ी राहत की खबर देते हुए बताया कि 22 जून को बाढ़ से प्रभावित लोगों की संख्या पहले की तुलना में कम हो गई है, उन्होंने कहा कि स्थिति में मामूली सा सुधार हुआ है. उन्होंने कहा कि 3995.33 हेक्टेयर कृषि भूमि बाढ़ के पानी से जलमग्न है.

Related Articles

Leave a Reply