जांजगीर चांपा

कलेक्टर ने किया बम्हनीडीह तहसील, जनपद कार्यालय और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण

लंबित राजस्व प्रकरणों का समय सीमा में निराकरण की हिदायत

जांजगीर-चांपा

कलेक्टर श्री जितेंद्र कुमार शुक्ला ने बम्हनीडीह तहसील कार्यालय में राजस्व मामलों के समय सीमा से अधिक अवधि तक लंबित रहने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने वहां पदस्थ नायब तहसीलदार गरिमा मनहर को प्रकरणों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए अन्यथा उन्हें वेतन वृद्धि रोकने की हिदायत दी। कलेक्टर ने आज जिले के विकासखंड मुख्यालय बम्हनीडीह में तहसील, जनपद कार्यालय और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया।
बम्हनीडीह तहसील कार्यालय का निरीक्षण करते हुए कलेक्टर ने 1 एवं 2 वर्ष से अधिक लंबित राजस्व प्रकरण के निराकरण नहीं होने पर अपनी गहरी नाराजगी जाहिर की। कलेक्टर ने कहा कि प्रकरणों का यथाशीघ्र निराकरण किया जाए और इसकी प्रगति से अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम को अवगत कराएं। उन्होंने प्रतिदिन कार्यालय समय में सुबह 10ः30 से 1ः30 तक लंबित राजस्व प्रकरणों के निराकरण में तेजी लाने कोर्ट लगाने और पक्षकारों को उपस्थित होने और दो-दो दिन में प्रकरणों की सुनवाई के लिए नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने ऐसे आवेदक जो अपने राजस्व से संबंधित समस्याओं का आवेदन लिख नहीं पाते स्वयं संज्ञान लेकर उनका आवेदन लिखवाने में सहयोग करने और प्रकरणों का त्वरित निराकरण सुनिश्चित करने के निर्देश नायब तहसीलदार को दिए। कलेक्टर ने 2 वर्ष से अधिक के लंबित प्रकरणों का निराकरण 30 अगस्त तक अनिवार्य रूप से करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने हिदायत देते हुए कहा कि नियत समय में प्रकरणों का निराकरण नहीं होने पर वेतन वृद्धि रोकने जैसी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़े- केंद्र का फैसला: मेडिकल कोर्सेस में OBC कैंडिडेट्स को 27% और आर्थिक रूप से पिछड़े कैंडिडेट्स को 10% आरक्षण मिलेगा

जनपद पंचायत बम्हनीडीह का निरीक्षण –

कलेक्टर ने जनपद पंचायत बम्हनीडीह के निरीक्षण के दौरान सीईओ श्री कुबेर सिंह से मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास, सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं का क्रियान्वयन, खाद बीज की उपलब्धता, कोरोना संक्रमण, कांटेक्ट ट्रेसिंग, स्वीकृत निर्माण कार्यों की प्रगति और उनका निरीक्षण, स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचालय निर्माण आदि के संबंध में विस्तृत जानकारी ली
विकासखंड में मनरेगा के क्रियान्वयन की जानकारी लेते हुए कलेक्टर ने 100 दिन का रोजगार मुहैया कराए गए मजदूरों की संख्या, कार्यों की स्थिति एवं प्रगति, नियोजित मजदूरों की संख्या, मजदूरी भुगतान, मस्टर रोल, कार्यों की गुणवत्ता जांच, पेंशन योजनाओं का क्रियान्वयन आदि की विस्तृत जानकारी लेते हुए उन्हें इन योजनाओं के सकारात्मक क्रियान्वयन के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। कलेक्टर ने निर्माण कार्य और योजनाओं की सकारात्मक क्रियान्वयन के लिए सीईओ जनपद पंचायत,  कृषि ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के अधिकारियों के साथ संयुक्त दौरा करने कहा।
पोड़ीशंकर में कोविड-19 मरीज मिलने की जानकारी पर कलेक्टर ने वहां घोषित कंटेनमेंट जोन में आवाजाही और अन्य लोगों का संपर्क रोकने प्रभावी कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्राम में एक समिति गठित करने और निर्देशों का कड़ाई से पालन कराने के कहा।

इसे भी पढ़े- नशे में धुत लड़की सड़क किनारे गिरी हुई मिली, पुलिस ने पहुंचाया अस्पताल, CCTV कैमरों की जांच कर रही पुलिस  

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण – 

कलेक्टर ने बम्हनीडीह समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का सघन निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने खंड चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर श्रीवास से दवा की उपलब्धता, ओपीडी मरीजों, कोविड की दवा की उपलब्धता और चिकित्सा स्टाफ की जानकारी ली। कलेक्टर ने दवा वितरण कक्ष का निरीक्षण करते हुए मरीजों को वितरित दवा का रिकॉर्ड संधारित करने कहा। उन्होंने अस्पताल के विभिन्न वार्डों का निरीक्षण करते हुए बीएमओ डॉ श्रीवास को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।  इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री गजेंद्र सिंह ठाकुर, अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, एसडीएम श्री सुभाष राज सहित अन्य विभागीय अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

Related Articles