बिलासपुर

छत्तीसगढ़: इंजीनियर ने की खुदकुशी, मकान में फंदे से लटका मिला शव

बिलासपुर

रेलवे के सेक्शन इंजीनियर ने शाम फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उनका शव घर में ही कमरे में लटका मिला है। जानकारी के मुताबिक, कंस्ट्रक्शन कॉलोनी निवासी मणिराम ठाकुर (42) रेलवे में सेक्शन इंजीनियर थे। उनकी पत्नी और बच्चे महासमुंद गए हुए हैं। रोज की तरह मंगलवार शाम करीब 6 बजे मणिराम ठाकुर घर लौटे। इसके बाद रात को उनकी पत्नी ने बात करने के लिए कॉल किया तो फोन रिसीव नहीं हुआ। जिसके बाद उन्होंने पड़ोसी को देखने के लिए भेजा। घर का दरवाजा नहीं खुलने पर पड़ोसी ने खिड़की से झांक कर देखा तो अंदर मणिराम का फंदे से शव लटक रहा था। घटना के समय घर में कोई नहीं था। देर शाम पत्नी के फोन करने पर जब कॉल रिसीव नहीं हुआ तो घटना का पता चला। इसके बाद पड़ोसियों ने पुलिस और परिजनों को सूचना दे दी है। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। मामला तारबाहर थाना क्षेत्र का है। इस पर पड़ोसी ने इसकी सूचना मणिराम के परिजनों और पुलिस को दी। फिलहाल पुलिस ने कमरे को सील कर दिया है। तारबहार थाना प्रभारी कलीम खान ने बताया कि मणिराम की पत्नी महासमुंद में शिक्षिक हैं। पूछताछ में पता चला है कि मणिराम का हाल ही में जांजगीर ट्रांसफर हुआ था। मौके से पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। फिलहाल खुदकुशी के कारणों की पुलिस जांच कर रही है। परिजनों के पहुंचने के बाद पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा। पिछले महीने 3 अगस्त को रेल मंडल में ही पदस्थ एक अन्य सीनियर सेक्शन इंजीनियर छुट्टन लाल मीणा ने मालगाड़ी के सामने आकर जान दे दी थी। GRP को मृतक की जेब से सुसाइड नोट भी मिला था। इसमें उन्होंने अपनी मर्जी से सुसाइड करने की बात लिखी थीं। मामले में GRP ने शव पोस्टमॉर्टम के बाद अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया था।

Related Articles