रायपुर

सॉफ्टेवयर इंजीनियर की नौकरी छूटी तो बन गया चोर, गैंग बनाकर करने लगा लूट

रायपुर

पुलिस ने मुख्य आरोपी साफ्टेवयर इंजीनियर सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस के मुताबिक खम्हारडीह इलाके में विंडमील के पास रायपुर गैस एजेंसी के मैनेजर दोपहिया सवार सुरेंद्र पाल सिंह को विधानसभा जाने का रास्ते पूछने के बहाने बाइक सवार तीन युवकों ने लूट लिया था। उनके हाथ से 1 लाख 80 हजार रुपए से भरा बैग छिनकर भाग निकले थे। इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी रोमी रिबेलो, अरविंद प्रसाद गुप्ता, संजय सोनी और राकेश सोनी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक रोमी सुरेंद्र के घर काम कर चुका है। रोमी साफ्टवेयर और इलेक्ट्रीकल इंजीनियर है। वह हैदराबाद में जॉब करता था। वर्ष 2020 में लॉकडाउन के बाद उसकी नौकरी छूट गई। इसके बाद से वह रायपुर में था। पुलिस ने आरोपियों से लूट का 85 हजार रुपए बरामद किया है। बाकी रकम को आरोपियों ने खर्च कर दिए हैं। मुख्य आरोपी रोमी सुरेंद्र के घर काम कर चुका है। इस कारण उसे उनके आने-जाने और गैस एजेंसी की कलेक्शन राशि के बारे में जानकारी थी। उसने सुरेंद्र से लूट करने की योजना बनाई। उसने पुराने चोर राकेश सोनी और उसके साथियों अरविंद प्रसाद और संजय के साथ मिलकर गिरोह बनाया और लूटपाट की तैयारी की। इससे पहले उसने सुरेंद्र की रेकी भी करवाई। घटना वाले दिन चारों दो बाइक में सवार होकर पहुंचे। रोमी घटना स्थल से कुछ दूर पर रहा। बाकी के तीनों आरोपियों ने मौके पर जाकर सुरेंद्र से बैग लूटा था। पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। इस दौरान वारदात में इस्तेमाल बाइक के बारे में जानकारी मिली। इसके आधार पर पुलिस ने अरविंद को पकड़ा और उससे कड़ाई से पूछताछ की। उसने रोमी और अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर लूट करना स्वीकार किया। इसके बाद पुलिस ने एक के बाद एक सभी को पकड़ लिया। बताया जाता है कि रोमी दोबारा हैदराबाद जाना चाहता था। इसलिए उसने लूट की। आरोपियों ने मैनेजर से 1 लाख्चा 80 हजार रुपए लूटा था। महज दो दिन के भीतर ही आरोपियों ने 95 हजार रुपए उड़ा दिए। मजे की बात है कि घटना के बाद से आरोपी पुलिस से बचकर भागते फिर रहे थे। इसके बाद भी लूट के 95 हजार रुपए कहां उड़ा दिए? इसको लेकर सवाल खड़े हो गए हैं। पुलिस अधिकारी भी इस संंबंध में कुछ बता नहीं पा रहे हैं।

Related Articles