बिलासपुर

14 साल की लड़की को अगवा कर गैंगरेप, इंस्टाग्राम पर दोस्ती हुई तो मिलने के बहाने ले गया, चंगुल से छूट कर परिजनों के पास पहुंची तो सारा मामला खुला, सभी आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर

नाबालिग लड़की की दोस्ती इंस्टाग्राम पर युवक से हुई थी। युवक ने शुक्रवार को लड़की को मिलने के लिए बुलाया और अपने साथ घर ले गया। वहां दो अन्य दोस्तों के साथ बंधक बनाकर दुष्कर्म किया। अगले दिन लड़की उनके चंगुल से छूट कर परिजनों के पास पहुंची तो सारा मामला खुला। इस दौरान परिजन थाने का चक्कर लगाते रहे, लेकिन पुलिस ने मामला तक दर्ज नहीं किया। फिलहाल रविवार को दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुख्य आरोपी की तलाश की जा रही है। तोरवा क्षेत्र में रहने वाली 14 साल की लड़की शुक्रवार को अपने घर से गायब हो गई थी। परिजन उसे तलाश कर रहे थे, लेकिन लड़की का पता नहीं चला। इसके बाद वे थाने पहुंचे। आरोप है कि पुलिस ने शिकायत तक दर्ज नहीं की। इस बीच शनिवार को लड़की घर लौट आई। इसके बाद परिजन फिर उसे लेकर पुलिस के पास पहुंचे। लड़की ने पुलिस को बताया कि तारबाहर क्षेत्र में रहने वाले एक युवक से उसकी इंस्टाग्राम पर बातचीत होती थी। शुक्रवार रात युवक ने उसे मिलने के लिए बुलाया था। लड़की ने बताया कि जब वह चौक पर पहुंची तो युवक ने उसे जबरदस्ती बाइक पर बिठा लिया और अपने साथ ले गया। अपने घर ले जाने के बाद दुष्कर्म किया। फिर अपने दो साथियों को भी बुला लिया और उन्होंने भी दुष्कर्म किया। इस घटना की जानकारी किसी को देने पर उसे जान से मारने की धमकी भी दी गई। अगले दिन लड़कों ने उसे छोड़ा तो वह घर पहुंची और परिजनों को इसकी जानकारी दी। आरोप है कि इसके बाद भी पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। अगले दिन रविवार को शहर में राज्यपाल का प्रवास था। नाबालिग से दुष्कर्म की सूचना मिलने के बाद भी थानेदार सहित पूरा अमला VVIP ड‌्यूटी में व्यस्त रहा। इस दौरान परिजन नाबालिग को लेकर थाने में अपनी रिपोर्ट दर्ज कराने गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन, उनकी कोई सुनने वाला नहीं था। थानेदार ने VVIP ड्यूटी का बहाना बनाया और महिला विवेचक नहीं होने की बात कह दी। इसके चलते परिजन पूरे दिन थाने में बैठे रहे। बताया जा रहा है कि पीड़ित के परिजनों ने शनिवार को ही इस घटना की सूचना थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस ने उन्हें कार्रवाई करने का भरोसा भी दिलाया। इस बीच बिना अपराध दर्ज किए ही पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। लेकिन, मुख्य आरोपी फरार हो गया। रविवार को पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ने का दावा किया है। लेकिन, उनकी जानकारी नहीं दी जा रही है। वहीं, पुलिस अफसर और थानेदार इस गंभीर मामले में कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

Related Articles