छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में फिर ऑपरेशन घर वापसी : 1200 लोग हिंदू धर्म में लौटे, स्व. जूदेव के बेटे प्रबल प्रताप पिता के काम को बढ़ा रहे आगे

जशपुर

छत्तीसगढ़ का जशपुर जिला आपरेशन घर वापसी अभियान के लिए दुनियाभर में चर्चित रहा है। इस अभियान के महानायक कुमार दिलीप सिंह जूदेव के स्वर्गवास के बाद अब उनके सुपुत्र प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने इस अभियान को जारी रखने का जिम्मा उठा लिया है। स्व. दिलीप सिंह जूदेव के पुत्र और भाजपा के प्रदेश मंत्री प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने 400 परिवारों के 1200 लोगों के पांव धोकर हिंदू धर्म में वापसी कराई। इस दौरान हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ जुटी थी। इस अवसर पर प्रबल प्रताप सिंह ने कहा है कि हिंदुत्व की रक्षा करना उनके जीवन का एकमात्र संकल्प है। घर वापसी करने वाले अधिकांश परिवार बसना-सराईपाली के थे। ऑपरेशन घर वापसी अभियान के कर्ताधर्ता प्रबल प्रताप सिंह ने कहा कि आज इतनी अधिक संख्या में लोगों की मूल धर्म में वापसी अच्छे संकेत हैं। किसी की मजबूरी का फायदा उठाकर किया गया काम कभी टिकाऊ नहीं होता है। मिशनरियों ने गरीबों की मजबूरी का फायदा उठाकर उनका धर्मांतरण किया था। शिक्षा व स्वास्थ्य के नाम पर धर्म का सौदा किया था। हम लगातार इन षड्यंत्रों को बेनकाब करते रहेंगे। घर वापसी करने वाले बोले, अब हम जागरूक हुए घर वापसी करने वालों को बसना से 20 बसों में लाया गया था। कार्यक्रम स्थल में उन्हें मूल धर्म में वापसी कराई गई। इनमें 100 परिवार स्थानीय और 300 परिवार बसना-सराईपाली से थे। मूल धर्म में लौटे लोगों ने बताया कि करीब तीन पीढ़ी पहले उनके पूर्वजों का धर्मांतरण हुआ था। उस वक्त वे बेहद गरीब थे और खेती में कुछ मदद और बीमारियों में इलाज की सहायता मिलने के कारण पूर्वजों ने धर्म परिवर्तन कर लिया था। पर अब वे जागरूक हो गए हैं।

Related Articles