Advertisement
देश

बिहार में जानलेवा बनी बारिश, बिजली गिरने से 24 घंटों में 9 लोगों की मौत, मुआवजे का ऐलान

पटना

बिहार में मौसम ऐसा मेहरबान हुआ कि लोगों की जाम पर बन आया. बारिश के साथ बिजली गिरने से बिहार में पिछले 24 घंटे में 6 जिलों में 9 लोगों की मौत हो गई है. प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दुख व्यक्त किया और मरने वाले लोगों के परिवारवालों को 4 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की.

आज इन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से बिहार के कई इलाकों में अच्छी बारिश का सिलसिला जारी है. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, बिहार में आज भी आमतौर पर आसमान में बादल छाए रहेंगे और एक या दो बार बारिश या गरज के साथ बौछारें पड़ेंगी. आईएमडी ने आज दोपहर तक सारण, पटना, भोजपुर, रोहतास, जहानाबाद, गया और नवादा जिले के कुछ भागों में हल्के से मध्यम दर्जे के बादल गरजने के साथ बिजली गिरने और भारी बारिश होने की संभावना जताई है. इन जिलों के लिए मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है.

अभी खूब होगी बारिश

वहीं मौसम का पूर्वानुमान लगाने वाली एजेंसी, स्काईमेट के मुताबिक, बिहार के उत्तरी आधे हिस्से में अन्य क्षेत्र की तुलना में गंभीर गतिविधि होगी. जिसमें चंपारण, सीतामढी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा, फॉर्ब्सगंज, किशनगंज, पूर्णिया और दरभंगा में भारी बारिश और बाढ़ की संभावना है. बिहार के अन्य हिस्सों में भी मध्यम और तेज़ बारिश देखी जाएगी. फिर इसमें थोड़ी कमी आएगी क्योंकि 07 जुलाई के आसपास बंगाल की खाड़ी पर एक चक्रवाती परिसंचरण उभरेगा, जिससे 07 और 08 जुलाई के बीच बारिश थोड़ी कम हो सकती है. लेकिन, 09 जुलाई से एक बार फिर भारी बारिश की सिलसिला शुरू होगा.

बाढ़ के लिए अलर्ट हुई सरकार

भारी बारिश को देखते हुए अब सरकार भी अलर्ट मोड में है. बिहार में बार-बार आने वाली बाढ़ के दीर्घकालिक समाधान के लिए केंद्र सरकार द्वारा गठित एक उच्च स्तरीय समिति ने शुक्रवार को बिहार के जल संसाधन मंत्री विजय कुमार चौधरी और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की और राज्य में बाढ़ शमन उपायों पर चर्चा की. जल संसाधन विभाग (डब्ल्यूआरडी) द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, “पांच सदस्यीय समिति ने मंत्री और विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की और राज्य में केंद्र द्वारा उठाए जा रहे कई बाढ़ शमन उपायों पर चर्चा की.”

समिति के सदस्यों ने मंत्री को बाढ़ प्रबंधन और नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार द्वारा तैयार की गई विभिन्न चल रही और प्रस्तावित परियोजनाओं के बारे में भी जानकारी दी. नदियों से गाद हटाकर बाढ़ को कम करने से संबंधित मुद्दों और बांधों के निर्माण की संभावना पर भी विस्तार से चर्चा की गई. बैठक में बिहार के दो अन्य मंत्री – अशोक चौधरी और बिजेंद्र प्रसाद यादव भी शामिल हुए.

Related Articles

Leave a Reply