देश

नाबालिग लड़कियों की खरीद-फरोख्त करने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, पति-पत्नी समेत तीन गिरफ्तार

कासगंज

जिले में पुलिस ने देह व्यापार के लिए नाबालिग लड़कियों की खरीद-फरोख्त करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. पुलिस ने इस मामले में पति-पत्नी समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें तीसरा आरोपी किन्नर है. उसके घर से जयपुर की रहने वाली नाबालिग लड़की मिली है. पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है. बताया जा रहा है कि जिले में देह व्यापार के लिए दूसरे राज्यों से बालिग और नाबालिग लड़कियों को खरीदकर लाकर बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़ पुलिस टीम ने किया है. एसपी रोहन प्रमोद बोत्रे ने बताया कि शुक्रवार को थाना गंजडुंडवारा पुलिस को सूचना मिली थी कि चांदनी किन्नर ने एक नाबालिग लड़की को एक लाख 20 हजार रुपए में खरीदा है. सहावर निवासी चांदनी कस्बा के मोहल्ला नगला इमाम बक्श में रह रही है. पुलिस ने उसके घर छापा मारा. वहां नाबालिग लड़की मिली. लड़की से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह जयपुर की रहने वाली है. करीब ढाई माह पूर्व जयपुर से अपने घर के पास रहने वाली महिला मुन्नी आपा के साथ यहां आई थी. नाबालिग ने बताया कि किन्नर चांदनी और विजय नाम के युवक ने उसे एक लाख 20 हजार रुपये में खरीदा है. दोनों उस पर देह व्यापार के लिए दबाव बना रहे थे. पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार चांदनी किन्नर, विजय और उसकी पत्नी रीना को गिरफ्तार करके जेल भेजा है. रीना की भी इस मामले में संप्लितता पाई गई है.एसपी रोहन प्रमोद बोत्रे ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वह बालिग, नाबालिग लड़कियों का गिरोह संचालित करते हैं. इस गिरोह के सरगना राजू एवं नौसे हैं. आरोपी राजस्थान, मध्यप्रदेश और अन्य राज्यों से लड़कियों को खरीदकर लाते हैं. इन लड़कियों को कासगंज के अलावा हाथरस व अन्य जनपदों में बेचते हैं. यह गिरोह अब तक 15-16 बालिग व नाबालिग लड़कियों को कासगंज और हाथरस जनपद में बेचा जा चुका है. एसपी ने बताया कि आरोपियों को पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी.

Related Articles