रायगढ़

रुपानाधाम के खिलाफ लामबंद हुए ग्रामीण…. कंपनी कर्मचारियों पर स्कूल की छात्राओं के साथ छेड़छाड़, फ्लाइंग Kiss और अश्लील हरकत करने का आरोप

“जब तक कंपनी नहीं होगी बंद नहीं भेजेंगे लड़कियों को स्कूल” 

रायगढ़

रुपानाधाम कंपनी के और ग्रामीणों के बीच हुई मारपीट मामले ने अब तूल पकड़ लिया है। 30 सितंबर को कंपनी के कर्मचारियों द्वारा कथित रूप से स्कूल जाने वाले गांव की छात्राओं के साथ छेड़छाड़ से परेशान होकर ग्रामीणों ने कंपनी के खिलाफ मोर्चा खोला था। जहां दोनों के बीच आपसी झड़प हुई थी। प्रबंधन द्वारा ग्रामीणों के खिलाफ पूंजीपथरा थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। ग्राम जमडबरी के छात्र – छात्राओं के साथ एसपी ऑफिस पहुंचे अभिभावकों ने निष्पक्ष जांच की मांग करते हुए ऐलान कर दिया है कि जबतक रुपानाधाम बंद नहीं होगा, तब तक वे अपने बेटियों को स्कूल नहीं भेजेंगे। तमनार के ग्राम जमडबरी के छात्र और छात्राओं के साथ उनके पालक शनिवार दोपहर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। एसपी अभिषेक मीणा के नाम आवेदन लेकर आए लोगों ने बताया कि सरकारी हायर सेकेंडरी स्कूल सराईपाली में जमडवरी की बेटियां पढ़ने के लिए जाती है तो रास्ते में रुपानाधाम स्टील प्रायवेट लिमिटेड के कुछ कर्मचारी पानी टंकी में चढ़कर छात्राओं को पत्थर मारते हुए न केवल फ्लाइंग किस करते हैं, बल्कि अश्लील इशारे कर छेड़खानी भी करते हैं । कुछ दिन तक तो छात्राएं खामोश रही , लेकिन जब मनचलों को हरकतें बढ़ने लगी तो सब का पैमाना छलकते ही पीड़ित किशोरियों ने इसकी जानकारी अपने परिजनों को दी । बेटियों से छेड़खानी करने वाले प्लांट कर्मचारियों को मना करने जब गांव के कुछ लोग और स्कूली छात्र रुपानाधाम कंपनी गए तो वहां गार्ड ने स्टूडेंट सुधीर मालाकार को धमकी देते हुए कॉलर खींचकर मारपीट शुरू कर दिया । वहीं , प्लांट के मालिक ने छेड़छाड़ करने वाले अपने कर्मचारियों और सिक्यूरिटी गार्ड को समझाने की बजाए उल्टे स्कूली छात्र तथा ग्रामीणों के नाम पूंजीपथरा थाने में रिपोर्ट करवा दी , जो कि गलत है । वहाँ , ग्रामीण जब शिकायत लेकर पूंजीपथरा थाने गए तो जिम्मेदार प्रभारी ने यह कहते हुए आवेदन वापस कर दिया कि अगला पक्ष शिकायत करेगा तो उनका भी रिपोर्ट दर्ज होगा । यही वजह है कि पूंजीपथरा थाने से बैरंग लौटे ग्रामीणों ने गांव में बैठक के बाद स्कूल ड्रेस पहने अपने बेटे – बेटियों को लेकर रायगढ़ आए और पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आवेदन लेकर पहुंचे । इस मामले में छात्राओं की सुरक्षा पर सवाल उठने पर अभिभावकों ने स्पष्ट कह दिया है कि वे बेगुनाह छात्र सुधीर मालाकार और ग्रामीणों की जगह रुपानाधाम के मनचले कर्मचारी , सुरक्षा गार्ड के साथ कंपनी मालिक के खिलाफ अपराध कायम करें । यही नहीं , इन्होंने मीडिया के सामने यह भी कहा कि जब तक रुपानाधाम कंपनी में ताला नहीं लगेगा , तब तक वे अपने बच्चों को स्कूल जाने नहीं देंगे ।

रुपानाधाम के खिलाफ लामबंद हुए ग्रामीण.... कंपनी कर्मचारियों पर स्कूल की छात्राओं के साथ छेड़छाड़, फ्लाइंग Kiss और अश्लील हरकत करने का आरोप Pradakshina Consulting PVT LTD

Related Articles