जांजगीर चांपा

जांजगीर: शांति जीडी संयंत्र ने की सड़क की हत्या…शिकायत के बाद भी कार्रवाई शून्य…जिपं सदस्य ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी….आंदोलन के लिए लामबंद हो रहे ग्रामीण

जांजगीर-चांपा
ग्राम पंचायत उच्चभिट्ठी से महुदा महुंच मार्ग एवं सिवनी से सुखरीकला पहुंच मार्ग प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से निर्मित हुआ था जिसकी हालत इतनी खराब हो चुकी है कि यहां आये दिन लोग दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। इस मामले को लेकर क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य श्रीमती उमा राजेन्द्र राठौर ने कई बार जिला प्रशासन को वस्तु स्थिति से अवगत कराया था, अभी वर्तमान में जिला पंचायत के सामान्य सभा की बैठक में जिला पंचायत सीईओ और मुख्य कार्यपालन अभियंता को इसकी जानकारी देते हुए कार्रवाई की मांग की गई थी जिस पर पीएमजीएसवॉय के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने मौके पर जाकर मुआयना भी किया किंतु अभी तक किसी भी प्रकार की कार्रवाई नही किये जाने से जहां ग्रामीणों में आक्रोश पनप रहा है वहीं विभाग की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठने लगे है। इस मामले को लेकर जिला पंचायत सदस्य श्रीमती उमा राजेन्द्र राठौर ने जिला प्रशासन को पुन: ज्ञापन सौंप कर कार्रवाई की मांग की है।

जांजगीर: शांति जीडी संयंत्र ने की सड़क की हत्या...शिकायत के बाद भी कार्रवाई शून्य...जिपं सदस्य ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी....आंदोलन के लिए लामबंद हो रहे ग्रामीण Pradakshina Consulting PVT LTD

संयंत्रों पर प्रशासन की पकड़ कमजोर
आपकों बता दें कि शांति जीडी इस्पात एण्ड पावर लिमिटेड ग्राम महुदा में स्थापित है जो कि उच्चभिट्ठी से अमझर तक प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना से बनी है जिसकी अधिकतम क्षमता 12 टन है, इस मार्ग पर संयंत्र की भारी वाहन ट्रीप टे्रलर जिसकी क्षमता 40 टन से भी अधिक है प्रतिदिन यहां से सैकड़ो बार गुजरती है जिससे यह मार्ग पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है, इसी तरह सुखरीकला मार्ग पर भी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से सड़क बनी हुई यहां भी कृष्णा संयंत्र की भारी वाहनों के चलने से मार्ग का अस्तित्व ही मिट गया है।

जांजगीर: शांति जीडी संयंत्र ने की सड़क की हत्या...शिकायत के बाद भी कार्रवाई शून्य...जिपं सदस्य ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी....आंदोलन के लिए लामबंद हो रहे ग्रामीण Pradakshina Consulting PVT LTD

कभी भी हो सकता है उग्र आंदोलन
इस पूरे मामले को लेकर जिला पंचायत सदस्य श्रीमती उमा राजेन्द्र राठौर ने लगातार प्रशासन का ध्यान आकृष्ठ करते आ रही है किंतु कार्रवाई के नाम पर महज आश्वासन ही मिल रहा है। इधर सड़कों की बदतर स्थिति को लेकर ग्रामीणों में संयंत्र के प्रति आक्रोश पनप रहा है। यदि समय रहते कार्रवाई नही हुई तो यहां कभी भी उग्र आंदोलन का रूप ले सकती है।

Related Articles