जांजगीर चांपा

किसानों को उनका हक देने का कार्य कांग्रेस पार्टी ने किया है – अर्जुन तिवारी

जांजगीर चांपा

22 जुलाई को प्रस्तावित वर्चुअल मुआवजा वितरण कार्यक्रम की तैयारी के लिए ब्लॉक कांग्रेस कमेटी डभरा के बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस महामंत्री एवम जिला कांग्रेस संगठन प्रभारी श्री अर्जुन तिवारी जी ने कहा कि किसानों को उनका हक देने का कार्य कांग्रेस में किया है। बसंतपुर, कलमा, मिरौनी, साराडीह बैराज के डुबान क्षेत्र में जिन किसानों की जमीन गई है। उनके अधिकार को कांग्रेस पार्टी की सरकार और मुखिया भूपेश बघेल ने मुआवजे के रूप में दिया है। 16 जून 2015 को हमारे नेता श्री राहुल गांधी जी के द्वारा साराडीह से डभरा का पदयात्रा किया था। उसी दिन से ही किसानों का अधिकार देने का संकल्प कांग्रेस पार्टी ने ले लिया था।

पूर्ववर्ती रमन सरकार ने केवल उद्योगपतियों के हित की चिंता की है, किंतु कांग्रेस पार्टी ने किसानों को खुशहाली के लिए कार्य किया है। इस मुद्दे को लेकर आपके विधायक रामकुमार यादव ने हमेशा लड़ाई लड़ी है, और अब कांग्रेस सरकार ने उस अधिकार को किसान को दिया है। विधायक चंद्रपुर रामकुमार यादव ने कहा कि किसानों को मुआवजा मिलने में विधानसभा के एक एक कांग्रेस कार्यकर्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। कार्यक्रम को जिला पंचायत अधक्ष श्रीमती यनिता यशवंत चंद्रा, जिला कांग्रेस प्रवक्ता शिशिर द्विवेदी, नगर पंचायत डभरा के अध्यक्ष प्रीतम अग्रवाल, दयाल सोनी, खुशवंत चंद्रा, अजय पटेल, सुरेंद्र मिश्रा ने भी संबोधित किया।

 

कार्यक्रम का संचालन दीनानाथ श्रीवास एवम आभार ब्लॉक कांग्रेस कमेटी डभरा के अध्यक्ष पारस यादव ने किया। साथ ही प्रभारी अर्जुन तिवारी, विधायक रामकुमार यादव, श्रीमती यनिता यशवंत चंद्रा द्वारा सड़क और नाली निर्माण हेतु 80 लाख के विकास कार्यों का भूमि पूजन किया गया। तत्पश्चात नगर पंचायत चंद्रपुर द्वारा उपस्थित अतिथियों का सम्मान कार्यक्रम किया गया। बैठक में विशेष रूप से संतोष शर्मा (पप्पू महाराज), श्याम कश्यप, दिनेश शर्मा अन्नपूर्णा बाराद्वार, अनिल चंद्रा, सुनील चंद्रा, ताराचंद्र साहू, संतोष मानिकपुरी, संजय अजगल्ले, आयुष अग्रवाल, हसिन खान, रामेश्वर माली, पार्षद गण दुर्गेश यादव, अजय देवांगन, पप्पू यादव, भारती उरांव, किरण केशरवानी, वासु शर्मा, सुनील देवांगन, चंदू देवांगन, राजू यादव, सागर यादव सहित कांग्रेस जन उपस्थित रहे।

Related Articles