देश

बादल फटने से तबाही, लापता पंजाबी सूफी सिंगर मनमीत सिंह समेत 6 लोगों की लाश बरामद

कांगड़ा

पहाड़ी इलाकों में लगातार आ रही बारिश (Rain) और कई जगह बादल फट जाने के कारण जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा इलाके में बारिश-बादल फटने की घटना से तबाही हुई है. यहां कारेरी लेक इलाके से बीते दिन कई शवों को बरामद किया गया. इनमें पंजाब के सूफी सिंगर मनमीत सिंह का शव भी शामिल है. जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को रेस्क्यू टीम को यहां पर कुल 6 शव बरामद हुए हैं. जिनमें एक महिला, एक बच्चे का शव भी शामिल है. कारेरी गांव के पास ही रेस्क्यू टीम को पंजाबी सूफी सिंगर मनमीत सिंह का शव भी बरामद हुआ है, जबकि जो अन्य लोग इस दौरान गायब हुए थे उन्हें भी अब मृत माना जा रहा है.

धर्मशाला घूमने आए थे मनमीत

पंजाब के अमृतसर जिले के रहने वाले मनमीत सिंह अपने भाई समेत कुल पांच लोगों के साथ धर्मशाला घूमने के लिए आए थे. रविवार को वह कारेरी झील घूमने के लिए गए थे, लेकिन तभी हिमाचल प्रदेश में जोरदार बारिश शुरू हो गई ऐसे में उन्हें वहां पर ही रुकना पड़ा. माना जा रहा है कि सोमवार को तेज बारिश में मनमीत सिंह और उनके साथी बह गए थे. पुलिस के मुताबिक, मनमीत सिंह और उनके साथी सोमवार को गायब हुए थे जबकि मंगलवार को उनके शव मिल गए हैं. इनके अलावा एक 19 साल की लड़की जो पास के इलाके से ही गायब थी, उसका भी शव मिला है.

बारिश के कारण पहाड़ी इलाकों का बुरा हाल

आपको बता दें कि पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बारिश के कारण हाल बेहाल है. उत्तराखंड हो या फिर हिमाचल प्रदेश हर जगह बारिश के कारण जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. कांगड़ा के पास बारिश के कारण भू-स्खलन हुआ और कई सड़कें जाम हो गईं, जिसके कारण सैकड़ों लोग यहां पर फंस गए हैं. बारिश के कारण लगे इस जाम में फंसने वाले अधिकतर टूरिस्ट और ट्रकवाले हैं, जिनका कहना है कि वह लंबे वक्त से यहां अटके हैं. उनके पास ना कुछ खाने को है और ना ही कोई मदद पहुंच रही है. हिमाचल प्रदेश की तरह ही उत्तराखंड का भी ऐसा ही हाल है, जहां पर बड़ी संख्या में टूरिस्ट फंस गए हैं.

उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में बारिश, बाढ़ के कारण सबसे बुरा असर हुआ है. यहां पर कुछ जगहों पर बादल फट गया, जिसके कारण नदियां-नाले उफान पर आ गए. लगातार हो रही बारिश के कारण लैंडस्लाइड भी हुआ है. मंडी-पठानकोट हाईवे समेत अन्य कई सड़कों पर लंबा जाम लगा हुआ है, जबकि लैंडस्लाइड के कारण गिरे मलबे से छोटी-छोटी लिंक रोड भी बंद हो गई हैं.

Related Articles