बिलासपुर

आवास दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी, निगम कार्यालय में स्कूटी छोड़कर भागा दलाल, जांच में जुटी पुलिस

बिलासपुर

अटल आवास दिलाने के नाम पर एक और धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। इससे पहले सरकंडा और सिविल लाइन में आधा दर्जन शिकायते दर्ज हो चुकी है। पीड़ित युवक पेशे से ड्राइवर है। उसकी शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस मामले की जांच कर रही है। सिविल लाइन क्षेत्र के जरहाभाठा मंदिर चौक के पास रहने वाले सुनील बाटवे ड्राइवर हैं। धर्मपाल भारद्वाज नामक व्यक्ति आए दिन उनकी कार को किराए पर लेकर जाता था। इससे उसकी पहचान ड्राइवर सुनील से हो गई थी। बाद में धर्मपाल ने जान—पहचान का फायदा उठाते हुए सुनील को अटल आवास योजना के तहत अशोक नगर में मकान दिलाने का झांसा दिया। इसके लिए उसने एक लाख रुपये लगने की बात कही। पुरानी जान—पहचान होने के कारण सुनील ने उसे 12 जुलाई 2019 की शाम 30 तीस हजार रुपये दे दिए। रकम मिलने के बाद वह जल्द ही आवास आवंटित होने की बात कही। इसके बाद धर्मपाल गायब हो गया। पीड़ित उसकी तलाश करने लगा। इस बीच धर्मपाल का मोबाइल भी बंद हो गया। पीड़ित उसकी तलाश में लगा रहा। उसका पता नहीं चल पा रहा था। बीते दिनों सुनील किसी काम से निगम कार्यालय गया था। उसने निगम की पार्किंग में आरोपित की स्कूटी को देखा। निगम कार्यालय में तलाश के बाद वह स्कूटी के पास ही खड़ा हो गया। दिनभर इंतजार के बाद भी कोई स्कूटी को लेने के लिए नहीं आया। इस पर सुनील ने निगमकर्मियों से वाहन के संबंध में पूछताछ की। इस पर पता चला कि स्कूटी कई दिनों से लावारिस खड़ी है। वहीं, पता चला कि आरोपित धर्मपाल ने कई लोगों को ट्रांसफर, नौकरी और आवास के नाम पर चपत लगाई है। इसकी जानकारी होने पर पीड़ित सुनील ने मामले की शिकायत सिविल लाइन थाने में की है। इस पर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Related Articles