छत्तीसगढ़

तांत्रिक दंपती ने महिलाओं को झांसे में लेकर की ठगी, गहने और नकद लेकर हुए फरार, अब दोनों चढ़े पुलिस के हत्थे

कोंडागांव

पुलिस ने एक तांत्रिक दंपती को गिरफ्तार किया है। इन दोनों ने कई महिलाओं से परिवार में सुख, चैन, शांति लाने के लिए गुमराह कर झाड़-फूंक करने के नाम पर सोने के गहने और नकदी लेकर फरार हो गए थे। जानकारी के मुताबिक, बाबा गिटटा बाबू (40) और उसकी पत्नी गीता एलम्मा (35) पिछले कई दिनों से केशकाल क्षेत्र में तंत्र-मंत्र का काम कर रहे थे। ये दोनों पति-पत्नी तेलंगाना के वारंगल जिले के थोरूर गांव के रहने वाले हैं। अपना अवैध धंधा चलाने के लिए इन दोनों ने महिलाओं को सहारा बनाया। महिलाओं की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी दोनों पति-पत्नी को पकड़ कर न्यायिक रिमांड में भेज दिया है। मामला केशकाल थाना क्षेत्र का है। परिवार के सारे कष्टों को दूर करने और शांति लाने के नाम पर तंत्र-मंत्र कर महिलाओं को ठगा करते थे। केशकाल की 3 से 4 महिलाओं को इन्होंने इसी तरह के जाल में फंसाया। 5 सितंबर को अलग-अलग घरों में जाकर महिलाओं से मिले। झाड़-फूंक करने के लिए सोने के गहने और कुछ रुपए मांगे। 24 घंटे के अंदर विशेष पूजा अर्चना करने की बात कही। फिर तांत्रिक मौका पाते ही इलाके से ही रफू चक्कर हो गए। महिलाओं ने जब संपर्क करने की कोशिश की तो फोन नहीं लगा। घबराई महिलाओं ने आस-पास के इलाके में भी पता किया लेकिन तब तक दंपती फरार हो चुके थे। जिसके बाद 8 सितंबर को केशकाल थाना में इस मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई। केशकाल पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि, महिलाओं की शिकायत के बाद पुलिस इस दंपती की तलाश में जुटी हुई थी। मुखबिर से पुलिस को सूचना मिली कि दोनों पति-पत्नी बोरगांव के ढाबा के पीछे मौजूद हैं। पुलिस ने टीम गठित की और दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इनके पास से लगभग 90500 रुपए के गहने भी बरामद किए हैं। जो इन्होंने महिलाओं ठगे थे।

Related Articles